१५ अप्रैल २०१८ का राशिफल : जानें आज किसकी किस्मत चमकाने वाले हैं सूर्य देवता

।। आज का पञ्चाङ्ग ।।

आप सब का मंगल हो, १५अप्रैल दिन रविवार.

ऋतु-बसंत
माह-वैशाख
पक्ष-कृष्ण
तिथि-चतुर्दशी
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय-05:34
सूर्यास्त-06:26
राहूकाल(अशुभसमय)शायं
04:30 से 06:00
दिशाशूल-पश्चिम
शुभदिशा-पूर्व
अमृतमुहूर्त-दोपहर 10:40 से 12:10 तक

।। आज का राशिफल ।।

मेष:-आज आपका दिन अनुकूल है। आज आपके सभी कार्य पूर्ण हो जाएंगे। लक्ष्मीजी की कृपा आप पर रहेगी। पारिवारिक सदस्यों के साथ आनंद के साथ समय बीतेगा। माता से लाभ होगा।
राशिरत्न:-मूँगा

aaj ka rashifal hindi me

वृष:- आपका मन चिंताओं से ग्रस्त हो सकता है। स्वास्थ्य बिगड़ सकता है एवं आंखों में पीड़ा होने की आशंका है। परिजनों से वाद-विवाद हो सकता है। फिजूल खर्ची हो सकती है। दुर्घटना से सावधान रहें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल

मिथुन:-आज का दिन आपके लिए बहुत लाभप्रद है। अविवाहितों को योग्य जीवनसाथी मिलने की संभावना है। धन प्राप्ति के लिए शुभ दिन है। मित्रों से मुलाकात आनंदप्रद होगी और उनसे लाभ भी हो सकता है।
राशिरत्न:-पन्ना

कर्क:-आज आपके लिए काफी आरामदायक दिन है। हर कार्य सरलतापूर्वक संपन्न होगा। नौकरी में उच्च पदाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। प्रमोशन होने के योग हैं। माता से संबंध सुदृढ़ रहेंगे और आरोग्य अच्छा है।
राशिरत्न:-मोती

सिंह:-आज आपका दिन मध्यम फलदायी होगा। धार्मिक एवं मांगलिक कार्यों में आज का दिन बीतेगा एवं धार्मिक यात्रा का आयोजन भी हो सकता है। आज आप थोड़े क्रोधित हो सकते हैं, जिस वजह से मानसिक अशांति हो सकती है।
राशिरत्न:-माणिक्य

कन्या:- आज किसी नए कार्य का श्री गणेश न करें। आज आप अधिक क्रोधित रहोगे इसलिए वाणी पर संयम रखें। परिजनों से उग्र बर्ताव के कारण मन दुख हो सकता है, इसका खास ध्यान रखिएगा। धन का व्यय हो सकता है, संभलकर खर्च करें।
राशिरत्न:-पन्ना

तुला:-आज का आपका दिन आमोद-प्रमोद में रहेगा। आपका मन मित्रों व स्नेहीजनों के साथ खान-पान, सैर-सपाटे एवं प्रेम सम्बंधों की वजह से मन प्रफुल्लित रहेगा। यात्रा पर्यटन का योग है। भोजन सुख भी उत्तम है।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल

वृश्चिक:– आपके गृहस्थजीवन में शांति एवं आनंद का वातावरण होगा एवं शारीरिक व मानसिक आरोग्य भी सुदृढ़ होगा। बीमार लोगों के स्वास्थ्य में सुधार आएगा। दफ्तर में सहकर्मियों का सहयोग पूर्ण मात्रा में मिलेगा।
राशिरत्न:-मूँगा

धनु:- संतानों के आरोग्य व अभ्यास संबंधी चिंताओं से मन व्याकुल हो सकता है। कार्य-सफलता न होने पर निराशा भी होगी, क्रोध की भावना पर संयम रखें। प्रिय पात्रों के साथ समय अच्छा बीतेगा।तार्किक एवं बौद्धिक चर्चा से दूर रहें।अन्यथा दुराव होना संभव है।
राशिरत्न:-पुखराज

मकर:-आज के दिन आपका शारीरिक स्वास्थ्य अच्छा नहीं होगा व परिवार में झगड़े के वातावरण से खिन्नता होगी। शरीर में स्फूर्ति तथा ऊर्जा का अभाव महसूस होगा। निजी सम्बंधियों से मनमुटाव हो सकता है।
राशिरत्न:-नीलम

कुंभ:-आज आप मानसिक रूप से अपने आपको बहुत हल्का महसूस करेंगे, क्योंकि मन में छाए हुए चिंता के बादल दूर हो जाने से मन में उत्साह का संचार होगा। मित्रों एवं स्वजनों से भेंट होगी, एवं छोटे प्रवास का आयोजन भी हो सकता है।
राशिरत्न:-नीलम

मीन:-आज योग कुछ इस प्रकार हैं कि किसी के साथ भी तकरार या मनमुटाव होने की आशंका है। खासकर धन के लेन-देन में सावधानी
बरतें। स्वजनों के साथ खटपट होने की आशंका है। शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य मध्यम रहेगा।
राशिरत्न:-पुखराज

।। आज के दिन का विशेष महत्व ।।

1. आज बसंत ऋतु वैशाख माह कृष्ण पक्ष चतुर्दशी तिथि है।
2. आज खरमास समाप्त व सर्वाथसिद्धि योग है।

।। प्रेरणादाई चौपाई ।।

कछुक दिवस बीते एहि भाँती। जात न जानिअ दिन अरु राती।।
नामकरन कर अवसरु जानी। भूप बोलि पठए मुनि ग्यानी।।

अर्थ:-गोस्वामी तुलसीदास जी वर्णन करते हैं कि इस प्रकार श्री अयोध्या वासियों के उत्साह नित्य बढ़ता गया जिसके कारण कब दिन हुवा कब रात्रि हो गई किसी को पता नहीं चला अब इन चारों राजकुमारों का नामकरण भी होना चाहिए इस उद्देश्य से ब्रम्हज्ञानी गुरुदेव वशिष्ठ जी को सादर बुलाया।
“अस्तु सोलह संस्कारों में नामकरण एक संस्कार है जिसको करना सभी के लिए अनिवार्य होता है बच्चों का नाम भी कुंडली के अनुसार सार्थक रखना चाहए जिससे उनके जीवन में सार्थकता फलीभूत हो। निरर्थक नाम से उन्नति बाधित होती है ।”

।। इति शुभम् ।।

।।आचार्य स्वमी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद व सरस् श्रीरामकथा ,श्रीमद्भागवत कथा व्यास।।
।।श्री अयोध्याधाम।।
संपर्क सूत्र-9044741252

Horoscope of April 15, 2018

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आज का राशिफल और पंचांग: 24 जून दिन रविवार, जानें किन राशी वालों पर भगवान होंगे मेहरबान

।।आज का पञ्चाङ्ग।। ऋतु-ग्रीष्म माह-ज्येष्ठ पक्ष-शुक्ल तिथि-एकादशी सूर्य-उत्तरायण