14 फरवरी दिन बुधवार का राशिफल: 51 साल बाद महाशिवरात्रि पर बना है ये शुभ संयोग, इन राशियों पर बरसेगी भोलेनाथ की कृपा

।।आज का राशिफल।।

आज आपकादिन मङ्गलमय हो 14 फरवरी दिन बुधवार

14 फरवरी दिन बुधवार का राशिफल: 51 साल बाद महाशिवरात्रि पर बना है ये शुभ संयोग, इन राशियों पर बरसेगी भोलेनाथ की कृपाऋतु-शिशिर
माह-फाल्गुन
सूर्य-उत्तरायण
सूर्योदय-06:26
सूर्यास्त-05:34
राहूकाल(अशुभसमय)दोपहर
12:00 से 01:30 बजे तक
तिथि-चतुर्दशी
पक्ष-कृष्ण
दिशाशूल-उत्तर व पश्चिम
शुभदिशा-दक्षिण व पश्चिम
अमृतमुहूर्त-प्रातः08:24से 09:48 तक

।।आज का राशिफल।।

मेष:- किसी नए कार्य को प्रारंभ करने के लिए प्रात: काल का समय अनुकूल रहेगा। आज सरकारी क्षेत्र से लाभ होने की संभावना है। व्यापार में लाभ होगा।अधिकारीगण आप पर प्रसन्न रहेंगे। किंतु विरोधियों से सावधान रहें।
सुझाव:-आज आप दूध,गुड़, व मखाने का दान करें।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभरंग:-महरून

वृष :- आज का दिन आपके लिए उत्तम फलदायी व व्यापारिक उन्नति देनें वाला रहेगा। मित्रों तथा स्नेहीजनों के साथ मुलाकात आनंदप्रद रहेगी।आज दिन का अधिकांश भाग धन सम्बंधित योजना बनाने में ही व्यतीत हो सकता है। यात्रा मंगलकारी रहेगी।
सुझाव:-आज आप माता महालक्ष्मी का पंचोपचार से पूजन करें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल
शुभरंग:-हल्का हरा

मिथुन:- आज आपका दिनआर्थिक दृष्टिकोण से लाभदायी रहेगा। मित्रों एवं सगे-संबंधियों से सहयोग मिलेगा। उत्तम भोजन और वस्त्र की सुविधा भी आपको आज मिलेगी। सरकारी कार्यों में सहूलियत मिलेगी। यात्रा से हानि सम्भव है।
सुझाव:-आज आप गौमाता को गुड़ चना खिलावें।
राशिरत्न:-पन्ना
शुभरंग:-पर्पल

कर्क:- आज आपका व्यवसाय प्रभावित रह सकता है।आर्थिक दृष्टिकोण से आज आय के मुकाबले खर्च अधिक रहेगा। नेत्रों के दुःख से व्यग्रता बढ़ सकती है मानसिक चिंता रहेगी। वाणी और वर्तनी पर संयम रखिएगा। किसी के साथ भ्रांति न हो इसका ध्यान रखिएगा।
सुझाव:-आज आप भगवान उमामहेश्वर का पंचोपचार से अर्चन करें।
राशिरत्न:-मोती
शुभरंग:-नीला

सिंह :- आज सामाजिक और व्यावसायिक क्षेत्र में आनंदप्रद और लाभप्रद समाचार आपको मिल सकते है, मित्रों के शुभ समाचार मिलेंगे। आय में वृद्धि होगी तथा धनलाभ होगा। यात्रा से शारीरिक कष्ट सम्भव है।
सुझाव:-आज आप धोती कुर्ते का दान किसी विप्र को करें।
राशिरत्न:-माणिक्य
शुभरंग:-समुद्री हरा

कन्या:- आज आपकी व्यावरिक साझेदारी सुदृढ़ होगी।परिजनों के साथ आपका संबंध प्रेमभरा रहेगा। मित्रों और स्वजनों से उपहार मिल सकता है। आपकी प्रसन्नता में वृद्धि होगी। व्यक्ति विशेष से लाभ मिल सकता है।
सुझाव:-आज आप दूध व शक्कर का दान करें।
राशिरत्न:-पन्ना
शुभरंग:-बादामी

तुला :- सुबह मन चिंताग्रस्त रह सकता है। शारीरिक रूप से शिथिलता और आलस्य रहेगा। व्यवसाय में आपके अधिकारी आप पर अप्रसन्न रह सकते हैं। पदोन्नति हो सकती है। 
सुझाव:-आज आपको चनेकी दाल ,गुड़ ,व नमक दान करें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल
शुभरंग:-श्वेत

वृश्चिक:- आज आप का व्यापार सन्तोष जनक रहेगा।स्वास्थ्य नरम रह सकता है। मानहानि न हो इसका ध्यान रखिएगा। वाणी पर संयम रखने से परिस्थिति अनुकूल बन सकेगी। पेट में तकलीफ हो सकती है। यात्रा से स्वास्थ्य प्रभावित रहा सकता है।
सुझाव:-आज आप उड़द की दाल ,हल्दी,चावल दान करें।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभरंग:-लाल
 
धनु:-आज आपका व्यापर मन्द रह सकता है,प्रात: काल के समय आप आनंद और मनोरंजन में डूबे रहेंगे। पारिवारिक वातावरण आनंदप्रद रहेगा। शारीरिक और मानसिक रूप से आप स्वस्थ रहेंगे परंतु मध्याह्न के बाद आपके मन में नकारात्मक विचारों की से भारीपन का अनुभव हो सकता है।
सुझाव:-आज आप काले तिल ,गुड़ व वस्त्र का दान किसी विप्र को करें।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभरंग:-पीला

मकर:- आज आपका व्यापार सामान्य रहेगा।बातचीत करते समय क्रोध पर संयम बरतें। परिवार में सुख-शांति और आनंदपूर्ण वातावरण बना रहेगा। मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। आर्थिक लाभ मिलेगा। 
सुझाव:-आज आप किसी विप्र को मूंग दाल व चावल दक्षिणा के साथ दान करें।
राशिरत्न:-नीलम
शुभरंग:-गुलाबी

कुंभ:- आज व्यापर मन्द रह सकता है।कला के प्रति आज आपकी विशेष अभिरुचि रहेगी। खर्च की मात्रा आज के दिन अधिक रहेगी। संतान से संबंधित चिंता सता सकती है। परंतु मध्याह्न के बाद घर में शांतिपूर्ण वातावरण बना रहेगा। अपूर्ण कार्य पूर्ण होंगे। सुझाव:-आज शिव उपासना के उपरांत ऊनी वस्त्र का दान करें।
राशिरत्न:-नीलम
शुभरंग:-सुनहला

मीन :- आज व्यापर उत्तम रहेगा।विचारों की अधिकता के कारण मानसिक रूप से शिथिलता का अनुभव होगा। जमीन,मकान संपत्ति विषयों में चर्चा आज न करे। अपच की शिकायत हो सकती है। विद्यार्थियों के लिए लाभकारी दिन है। 
सुझाव:-आज आप गेंहू गुड़ दान करें।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभरंग:-पीला

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।

1 आज शिशिर ऋतु फाल्गुन माह कृष्णपक्ष चतुर्दशी तिथि है।
2आज शिवरात्रि व्रत का पारण है।

।।प्रेरणादाई चौपाई।।

लिंग थापि बिधिवत करि पूजा।
शिव समान मोहि प्रिय नहीं दूजा।।

अर्थ:-प्रभू श्री राम रामेश्वरम लिंग की स्थापना अपने हाथों से किया और अपने सखा आदि वानर वीरों से कहा कि मुझे प्राप्त करने वाले पहिले भगवान शंकर की उपासना करें क्यों कि इनसे प्रिय मेरे लिए कोई दूसरा देव नहीं है।
“अस्तु विश्वास रूपी शिव की प्राप्ति बिना श्रद्धा रूपी पार्वती के सम्भव नही है।”

।।वास्तु टिप विशेष।।

घर मे डोर बेल कम से कम 5 फुट जमीनसे ऊँचाई पर घर के प्रवेश द्वार पर लगवाने व एक बार ही बजने वाला डोर बेल लगवाने से घर की सकारात्मक ऊर्जा को बन मिलता है।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वमी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद, वास्तुविद व सरस कथा व्यास।।
।। श्री अयोध्या धाम।।
संपर्क सूत्र-9044741252

Facebook Comments

You may also like

रेलवे ने फिर निकालीं 90 हजार भर्तियां, जाने आवेदन करने की तारीख

मोदी सरकार के रोजगार अभियान के तहत इंडियन रेलवे ने