1 दिसम्बर दिन शुक्रवार का राशिफल: जानिए कैसा रहेगा आपका आखिरी महीने का पहला दिन

।।आज का पञ्चाङ्ग।।

आज का दिन मंगलमय हो 1 दिसम्बर दिन शुक्रवार

1 दिसम्बर दिन शुक्रवार का राशिफल: जानिए कैसा रहेगा आपका आखिरी महीने का पहला दिन ऋतु-हेमन्त
सूर्य-दक्षिणायन
सूर्योदय-06:43
सूर्यास्त-05:17
राहूकाल(अशुभ समय)
प्रातः10:30से12:00बजे तक
तिथि-त्रयोदशी
पक्ष-शुक्ल
दिशाशूल-पश्चिम
अमृतमुहूर्त-प्रातः09:40से10:58 तक।

।।आज का राशिफल।।

मेष:-
किसी दोस्त से मुलाकात बहुत कारगर साबित होगी। नौकरी या कारोबार में कोई आपको ऐसी सलाह दे सकता है जिससे आपका समय बदल जाएगा। ज्यादातर मामले आसानी से निपट सकते हैं। 
सुझाव:-मसूर की दाल दान करें।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभरंग:-हरा

वृष:-
कारोबार में फायदा होने के योग बन रहे हैं। उत्साह भी रहेगा। सोचे हुए काम भी पूरे हो सकते हैं। कुछ लोग भी आपकी तरफ आकर्षित हो सकते हैं। आज आप निवेश के कुछ मामलों को गहराई से देखने और समझने की कोशिश भी कर सकते हैं। 
सुझाव:-इलाइची का दान करें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल
शुभरंग:-धानी

मिथुन:-
किसी पुराने काम का नतीजा आपके फेवर में हो सकता है। नया काम शुरू करने का मन बना रहे हैं तो शुरू कर सकते हैं। मनोरंजन में भी समय बीतेगा। ज्यादातर मामलों में आप समझौते का मन बना कर चलें।
सुझाव:- कच्चे नगरीयल का दान करें।
राशिरत्न:-पन्ना
शुभरंग:-परपल

कर्क:-
 भाई या साथी की सफलता से खुशी हो सकती है। किस्मत का साथ मिलने से फायदा हो सकता है। लोगों की नजरों में आपकी इज्जत बढ़ सकती है। नौकरी बदलने का विचार दिमाग से निकाल दें।
सुझाव:-काले उड़द की दाल दान करें।
राशिरत्न:-मोती
शुभरंग:-क्रीम

सिंह:-
 करियर में कोई बिल्कुल ही नया ऑफर आपको मिल सकता है। बचा हुआ काम निपटाने पर पूरा ध्यान दें। कोई भी चीज खरीदने में जरूरत से ज्यादा उदारता रखेंगे। कोई भी मामला सकारात्मक रहकर निपटाने की कोशिश करें।
सुझाव:-बाजरे का आटा दान करें।
राशिरत्न:-माणिक्य
शुभरंग:-फिरोजी

कन्या:-
कामकाज में तेजी हो सकती है। अपना व्यवहार जितना लचीला रखेंगे, उतना ही फायदा आपको हो सकता है। आप किसी के लिए बहुत मददगार भी साबित हो सकते हैं।  भावनात्मक तौर पर आप लोगों को सहारा दे सकते हैं। 
सुझाव:-काले उड़द का दान करें।
राशिरत्न:-पन्ना
शुभरंग:-चॉकलेटी

तुला:-
आसपास के कुछ लोग आपकी मदद के लिए तैयार रहेंगे। पैसों की जरूरत महसूस होगी। सामाजिक दायरे में भी बदलाव आ सकता है। नए लोगों से मुलाकात के योग बन रहे हैं। आपके इरादे और सपनों में भी बदलाव हो सकता है। 
सुझाव:-बाकला की दाल दान करें।
राशिरत्न:-हीरा,ओपल
शुभरंग:-आसमानी

वृश्चिक:-
 आपकी राशि के लिए चंद्रमा की स्थिति शुभ हो सकती है।  अपने लिए आगे का रास्ता आप खुद ही बनाने की कोशिश कर सकते हैं। कोई अधूरा काम निपटाने में सफलता मिल सकती है।
सुझाव:-मसूर की दाल दान करें।
राशिरत्न:-मूँगा
शुभरंग:-हल्कालाल

धनु:-
आप में कामकाज करने की ऊर्जा बढ़ सकती है। इसका उपयोग सोच-विचार कर ही करें। करियर में प्रगति का मौका मिल सकता है। ऑफिस में आप आने वाले दिनों की तैयारियों में लगे रह सकते हैं।
सुझाव:-चनेकी दाल दान करें।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभरंग:-पीला

मकर:-
बहुत दिनों से रुका काम आज शुरू हो सकता है। छिटपुट परेशानियां खत्म होने के योग हैं।  कामकाज में मन लगने से कारोबार या नौकरी में आगे बढ़ने की संभावना है। आसपास के कुछ लोग आपके भरोसे हो सकते हैं। 
सुझाव:-अरहर की दाल दान करें
राशिरत्न:-नीलम
शुभरंग:-सुनहला

कुंभ:-
जरूरी काम जल्दी पूरे हो सकते हैं। रुका हुआ पैसा मिलने के योग हैं। सेविंग बढ़ सकती है। योजनाएं सफल हो सकती है। बिजनेस या नौकरी के टारगेट भी पूरे हो सकते हैं। विदेश या दूर स्थानों से कोई अच्छी खबर मिल सकती है।
सुझाव:-मूँग की दाल दान करें।
राशिरत्न:-नीलम
शुभरंग:-केशरिया

मीन:-
कोई भी बड़ा काम करने से पहले एक बार अच्छे से सोच लें। बिजनेस में आने वाली परेशानियों से निपटने की कोशिश करें। परिवार के लोगों की मदद मिल सकती है।
सुझाव:- काले उड़द का दान करें।
राशिरत्न:-पुखराज
शुभरंग:-बादामी

।।आज के दिन का विशेष महत्व।।

1 आज मार्गशीर्ष माह त्रयोदशी तिथि शुक्लपक्ष है।
2 आज अनंग त्रयोदशी व्रत है, सर्वाथसिद्धि योग है।

।।प्रेरणा दाई चौपाई।।

सुक सारिका जानकी ज्याए।
कनक पिंजरन्हि राखिपढ़ाए।।

अर्थ:-सन्तशिरोमणि गोस्वामी तुलसीदास जी श्रीसीताराम विवाह में जनक पुर के पशु पक्षियों की मनोदशा का वर्णन करते हुवे कहते है कि श्री जानकी जी ने जिन तोता और मैना को पाला था वे सोने के पिजरे में रखे हुवे थे जिनको लाडली श्री जानकी जी ने स्वयं पढ़ाया था,पाला था अब वे व्याकुल होकर बोलते हैं कहाँ वैदेही?जानकी जी कहाँ है? उन पक्षियों की व्याकुलता को देख कर शब्द को सुनकर भला कौन ऐसा है जो अपना धैर्य न छोड़ दे! जब खग, मृग इस प्रकार विदाई से विह्वल हो गए तो भला मनुष्य की दशा का वर्णन कौन करे?

।।वास्तु का ध्यान दें।।

घरों में चर चर काआवाज करते दरवाजे वास्तु दोष पैदा करते है। उनमें समय समय पर ग्रीस या तेल डाल कर सगी करें।

।।इति शुभम्।।

।।आचार्य स्वामी विवेकानन्द।।
।।ज्योतिर्विद ,संगीत मय श्रीरामकथा, श्रीमद्भागवत कथा प्रवक्ता।।
।। श्री अयोध्या धाम।।
संपर्क-9044741252

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button