मध्यप्रदेश में भारी बारिश से कई गाँव टापू में हुए तब्दील

- in राष्ट्रीय

मध्य प्रदेश में बारिश ने फिर कहर बरपाना शुरू कर दिया है, पिछले 24 घंटों में राज्य की राजधानी भोपाल समेत, उमरिया, गुना और श्योपुर में भारी बारिश दर्ज की गई है. इसके अलावा बालाघाट, कटनी, शहडोल, नरसिंहपुर, मंडला समेत आसपास के जिलों में भी तेज़ बारिश की वजह से राज्य की कई नदियां उफान पर चल रही है. मुख्य नदी नर्मदा का जलस्तर बढ़ने से डिंडोरी इलाका काफी देर के लिए टापू बना रहा, साथ ही बारिश के कारण यातायात भी प्रभावित हुआ.

जबलपुर-डिंडौरी वाया शहपुरा और मंडला-डिंडौरी मार्ग शुक्रवार शाम पांच बजे तक बंद रहे. मार्ग बंद होने के कारण शिवपुरी के कल्याण पुर गांव में 5 लोग सिंध नदी में आई बाढ़ में फंसे हुए हैं, जबकि सुड गांव में भी 10 से ज्यादा लोग बाढ़ के पानी में फंसे हुए हैं. रहत और बचाव दल उनके रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए रवाना हो गया है. वहीं शिवपुरी में भी भारी बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं,  पचावली पर सिंध नदी पहली बार पुल से 10 फीट ऊपर बह रही है, मड़ीखेड़ा बांध के एक साथ दस गेट खोल दिए गए हैं. साथ ही आस-पास के कुछ गांवों से संपर्क भी टूट गया है. 

इसके अलावा छतरपुर में  दो दिन से बारिश जारी है, जिले के नदी नाले उफान पर हैं. बिजावर और छतरपुर का संपर्क शाम को कट गया है. बड़ामलहरा से सूरजपुरा मार्ग भी बंद है.  छतरपुर रोड पर स्थित जमुनया नाला उफान था, वाहनों की आवाजाही बंद थी, इसी दौरान पुल पार कर रही एक कमांडर जीप नाले में बह गई जिसमें सवार 4 लोग भी नाले में बह गए. इनमें 3 लोग तैर कर बाहर आ गए, जबकि ड्राइवर का पता नहीं चला है. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

इमरान खान का मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- ‘भारत के अहंकारी और नकारात्‍मक जवाब से निराश हूं’

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को नरेंद्र