उसने यह भी बताया कि आसाराम अपनी यौन क्षमता बढ़ाने के लिए दवाएं खाता था और अफीम का सेवन करता था. अफीम को कूट भाषा में वह ‘ पंचेड बूटी ’ कहता था. अभियोजन पक्ष के गवाह ने अदालत के सामने यह भी खुलासा किया था कि आसाराम के साथ रहने वाली तीन लड़कियां ढोंगी बाबा की शिकार बनीं लड़कियों का गर्भपात कराने के कृत्य में भी शामिल थीं.

सचार पर हुआ था हमला

आसाराम का साथ और आश्रम छोड़ने के बाद सचार पर 2004 में हमला भी कराया गया. उसने इस बारे में पुलिस के पास शिकायत भी दर्ज कराई , लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. आसाराम द्वारा लड़कियों का यौन उत्पीड़न किए जाने से संबंधित मामले में बयान देने के बाद भी सचार पर हमला हुआ. बलात्कार के मामले में आसाराम सितंबर 2013 से जेल में था और मंगलवार को जोधपुर की विशेष पोक्सो अदालत ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई.