Happy Birhday God of Cricket: सचिन को संभालना था मुश्किल, बचपन में की खूब शरारतें

images-1-3क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का 24 अप्रैल को बर्थ-डे है। उनका जन्म 24 अप्रैल 1974 को हुआ। पूरे क्रिकेट करियर में सचिन का किसी भी बड़े विवाद से नाता नहीं रहा। इस अवसर पर हम आपको बताने जा रहे है उनसे जुड़े हर एक वाक्या।

 

–सचिन तेंदुलकर के पिता का नाम रमेश तेंदुलकर था और उन्होंने सचिन का नाम अपने प्रिय संगीतकार सचिन देव बर्मन के नाम पर रखा था

–सचिन का विवाह सन 1994 में अंजलि तेंदुलकर से हुआ। सचिन के दो बच्चे हैं, सारा और अर्जुन।

क्रिकेट में योगदान

–सचिन गेंदबाज बनना चाहते थे पर अॉस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाज डेनिस लिली ने उनको बल्लेबाजी पर ध्यान देने के लिए कहा।

–15 साल की उम्र में सचिन ने विनोद काम्बली के साथ मिलकर हारेस शील्ड मुकाबले में 664 रन की पार्टनरशिप की थी। सचिन ने 16 वर्ष की छोटी उम्र में ही टीम इंडिया की तरफ से सन 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ अपने अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरुआत की

–सन 1990 में इंग्लैंड दौरे में अपने टेस्ट क्रिकेट का पहला शतक लगाया जिसमे उन्होंने नाबाद 119 रन बनाए।

–23 दिसम्बर 2012 को सचिन ने वन-डे क्रिकेट से संन्यास लिया

–16 नवम्बर 2013 को मुम्बई के अपने अन्तिम टेस्ट मैच में उन्होंने 74 रनों की पारी खेलकर टेस्ट क्रिकेट से सन्यास लिया.

सचिन के रिकॉर्ड

-सचिन के नाम अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक।

-एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट इतिहास में दोहरा शतक जड़ने वाले वह पहले खिलाड़ी हैं।

-वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में 18426 सबसे ज्यादा रन हैं।

-वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा 51 शतक और सबसे ज्यादा रन।

-टेस्ट अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा 49 शतक और 15921 सबसे ज्यादा रन हैं।

-सबसे अधिक वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच (463) खेलने वाले एकमात्र खिलाडी।

-सबसे अधिक टेस्ट अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच (200) खेलने वाले एकमात्र खिलाडी।

-वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द सीरीज।

-वनडे अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा मैन ऑफ द मैच।

-अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मुकाबलों में सबसे ज्यादा 34000 हजार से ज्यादा रन बनाने वाले पहले खिलाडी।

images (2)पुरस्कार और सम्मान

–अपने खेल के अलावा अपने व्यक्तित्व के कारण सचिन को दुनियाभर में सभी क्रिकेट प्रेमी प्यार और सम्मान देते हैं।

–सन 2014 में भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित।

–सन 2008 में भारत के दुसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म विभूषण से सम्मानित।

–सन 1999 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित।

–सन 2001 में महाराष्ट्र राज्य के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार महाराष्ट्र भूषण पुरस्कार से सम्मानित।

–सन 1994 में खेल में उनके उत्कृष्ट उपलब्धि के सम्मान में भारत सरकार द्वारा अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित।

–सन 1997-98 में भारत के सर्वोच्च सम्मान राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित।

–1998 और सन 2010 में विजडन लीडिंग क्रिकेटर ऑफ द ईयर।

–2003 क्रिकेट विश्व कप के प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट।

–2010 में खेल और काम में पीपुल्स च्वाइस अवार्ड।

–वर्ष 2010 के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेटर के लिए आईसीसी पुरस्कार।

–2010 में एलजी पीपुल्स च्वाइस अवार्ड मिला।

–2010 में भारतीय वायु सेना द्वारा मानद ग्रुप कैप्टन की उपाधि।

–बीसीसीआई द्वारा 2011 वर्ष के सर्वश्रेष्ठ भारतीय क्रिकेटर।

–सन 2012 में सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) की मानद आजीवन सदस्यता।

–भारतीय पोस्टल सर्विस ने 2013 में तेंदुलकर का एक डाक टिकट जारी किया और यह मदर टेरेसा के बाद दूसरे भारतीय हैं जिनके लिए ऐसा डाक टिकट उनके अपने जीवनकाल में ही जारी किया गया हो।

— सचिन को सन् 2012 में राज्य सभा की सदस्यता मिली।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button