अब इन कंप्यूटरों में नहीं चलेगा Google Chrome, तुरंत करें चेक कहीं आपका कंप्यूटर तो नहीं…

Google Chrome दुनिया में सबसे ज्यादा यूज किया जाने वाला ब्राउज़र है। Chrome के ओपन-सोर्स क्रोमियम इंजन का उपयोग अन्य ब्राउज़र जैसे कि Microsoft Edge, Brave, Vivaldi जैसे ब्राउज़र भी करते हैं। क्या हो अगर ऐसा हो की गूगल क्रोम आपके कंप्यूटर में चलना बंद हो जाए? शायद इस पल के बारे में सोचना भी कुछ लोगों को मुश्किल लगे। गूगल क्रोम एक ऐसा ब्राउज़र है जो काफी यूजर फ्रेंडली है। हाल ही में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक अगर आपके कंप्यूटर में 15 साल से ज्यादा पुराना CPU लगा है तो आपके पीसी में गूगल क्रोम काम नहीं करेगा

Google के लोकप्रिय ब्राउज़र क्रोम पर काम करने वाले डेवलपर्स ने अब घोषणा की है कि ब्राउज़र इंजन जल्द पुराने प्रोसेसर पर काम करना बंद कर देगा। अगर आप बहुत पुराने प्रोसेसर वाला कंप्यूटर चला रहे हैं तो आपको इस दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। TechSpot की रिपोर्ट के मुताबिक यदि आपके कंप्यूटर का सीपीयू 15 वर्ष से अधिक पुराना है, तो यह संभावना है कि वह कंप्यूटर क्रोम के सबसे पुराने 89 वर्जन को भी सपोर्ट नहीं करे। 

जल्द इन प्रोसेसर को सपोर्ट नहीं करेगा क्रोम 
इसका सीधा मतलब है कि अगर आप सेलेरॉन एम सीरीज़ सीपीयू या इंटेल एटम प्रोसेसर चला रहे हैं, जो SSE3 (Supplemental Streaming SIMD Extensions 3) को भी सपोर्ट नहीं कर सकता तो आपके कंप्यूटर में क्रोम भी सपोर्ट नहीं करेगा। रिपोर्ट की माने तो यदि आप अपने कंप्यूटर में क्रोम को जबरदस्ती इंस्टाल करने की कोशिश करेंगे तो क्रेश हो जाएगा। ऐसी स्थित में आपके कंप्यूटर की विंडो भी क्रेश हो सकती है। क्रोमियम द्वारा दिए जा रहे मेसेज के मुताबिक क्रोम 87 कुछ हफ्ते बाद काम करना बंद कर देगा। 

नहीं फेकना चाहते हैं अपना पुराना कंप्यूटर तो यूज कर सकते हैं ये ब्राउज़र 
क्रोम के बंद होने के बाद आप अपने पुराने कंप्यूटर को रिटायर कर सकते हैं या इसे बेसिक लोकल होम सर्वर की तरह यूज कर सकते हैं। और यदि आप अभी भी इंटरनेट ब्राउज़ करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करना चाहते हैं, तो आप मोज़िला फ़ायरफ़ॉक्स ब्राउज़र को डाउनलोड कर सकते हैं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button