मोहाली में गेल ने अकेले दिखाया दम, कहा- ‘कभी न समझना कम’

- in खेल

गेल… गेल… गेल… ये नाम है क्रिकेट जगत के यूनिवर्स बॉस का. ये नाम है T20 क्रिकेट के ब्रैडमैन का. वर्ल्ड क्रिकेट में इस नाम को सुनकर ही गेंदबाजों को नानी याद आ जाती हैं. ऐसा क्यों होता है इसका एक शानदार नमूना मोहाली के मैदान पर देखने को मिला. जहां विस्फोटक हेनरी गेल ने शतक जमाकर अपने आलोचकों के मुंह पर ताला जड़ दिया. 58 गेंदों पर IPL-11 का पहला शतक जमाकर गेल ने बता दिया कि उनके रनों की भूख अभी खत्म नहीं हुई है. उनके बल्ले से निकला शतक करारा जवाब है उनके लिए जो उन्हें डिगा हुआ मान बैठे थे. दूसरे लहजे में कहें तो ये गेल के अंदर का गुस्सा था जो मोहाली में शतक की शक्ल में निकला था.

मेरा शतक करारा जवाब है- गेल

मोहाली में शतक जड़ने के बाद गेल ने कहा था, ” काफी लोग ये मान बैठे थे कि गेल बुड्ढा हो गया है. इस शतकीय पारी के बाद मुझे उन्हें कुछ और कहने की जरुरत नहीं है.” इस बयान के जरिए गेल ने सीधे अपनी पिछली IPL फ्रेंचाईजी बैंगलोर पर निशाना साधा है, जिन्होंने जनवरी में हुए फ्रेश IPL ऑक्शन में ना तो गेल को रिटेन किया और ना ही उन्हें खरीदा था. बैंगलोर में शतक के जरिए दिए गेल के करारे जवाब को पंजाब के कोच वीरेन्द्र सहवाग के इस ट्वीट से भी समझा जा सकता है.

चोट पर जोंटी रोड्स ने पूछा हाल, सुरेश रैना ने दिया भावुक जवाब

पूरी टीम के बराबर अकेले गेल

मोहाली में तूफानी गेल ने 63 गेंदों पर 104 रन बनाए जिसमें सिर्फ 1 चौका और 11 गगनचुंबी छक्के शामिल रहे. इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 165.07 का रहा. वहीं दूसरी ओर पंजाब के बाकी बल्लेबाजों ने केवल 57 गेंदे खेली और 81 रन बनाए. 9 चौके, 3 छक्के और 142.11 की स्ट्राइक रेट के साथ. मतलब साफ है गेल अब भी अपनी टीम के के बराबर अकेले हैं. वो एक तरफ और टीम के बाकी खिलाड़ी एक तरफ. मोहाली में गेल की इस जोरदार कामयाबी को सनराइजर्स हैदराबाद के मेंटर वीवीएस लक्ष्मण के उस ट्वीट से भी समझा जा सकता है, जिसमें उन्होंने माना है उनकी टीम को अकेले गेल ने हराया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान का मानना, करियर खत्म होने पर ही कोहली की सचिन से हो तुलना

क्रिकेट के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर और विराट