गौतम गंभीर का फूटा गुस्सा, आठ साल में एक भी ट्रॉफी नहीं, विराट को छोड़ देनी चाहिए कप्तानी

विराट कोहली की कप्तानी वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) का आईपीएल सफर खत्म हो गया. सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के खिलाफ शुक्रवार को एलिमिनेटर मुकाबला गंवाने के साथ ही कोहली का ट्रॉफी जीतने के सपना एक बार फिर टूट गया. विराट कोहली ने 2013 में पूर्ण रूप आरसीबी की कप्तानी संभाली थी. उनकी कप्तानी में टीम तब से सिर्फ एक बार 2016 में फाइनल में पहुंची, लेकिन खिताब जीत नहीं पाई. 

भारत के पूर्व बल्लेबाज गौतम गंभीर को लगता है कि विराट कोहली को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु की कप्तानी से हट जाना चाहिए. गंभीर ने कहा कि 8 साल काफी लंबा समय होता है और अगर टीम इस अवधि में एक भी खिताब जीतने में विफल रहती है तो कप्तान को जवाबदेह होना चाहिए.

कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) को दो बार चैम्पियन बनाने वाले पूर्व कप्तान गौतम गंभीर ने क्रिकइन्फो से लाइव इंटरव्यू में कहा, ‘यही मौका है, कोहली आगे आएं और इस परिणाम के लिए जिम्मेदारी लें.’

Ujjawal Prabhat Android App Download

यह पूछे जाने पर कि यदि वह फ्रेंचाइजी के प्रभारी होते, तो कप्तान बदल देते तो..? गंभीर ने कहा, ‘100 प्रतिशत, क्योंकि समस्या जवाबदेही के बारे में है. टूर्नामेंट में 8 साल (बिना ट्रॉफी के), 8 साल बहुत लंबा समय है. मुझे कोई अन्य कप्तान बताएं … कप्तान के बारे में भूल जाएं, मुझे किसी अन्य खिलाड़ी के बारे में बताइए, जो 8 साल तक किसी टीम के साथ रहने के बाद भी खिताब नहीं जीता और फिर भी टीम के साथ बना हुआ है… यह जवाबदेही होनी चाहिए. एक कप्तान को जवाबदेही लेने की जरूरत है.’

गंभीर ने कहा, ‘यह केवल एक साल की बात नहीं है. …और न केवल इस साल की. मैं विराट कोहली के खिलाफ नहीं हूं, पर कहीं न कहीं उन्हें स्वीकार करने की जरूरत है और वह कहें-  ‘हां, मैं जिम्मेदार हूं. मैं जवाबदेह हूं.’

उन्होंने कहा, ‘ 8 साल काफी लंबा वक्त होता है. देखिए, रविचंद्रन अश्विन के साथ क्या हुआ. दो साल की कप्तानी (किंग्स इलेवन पंजाब के लिए) में वह नतीजा नहीं दे सके और उन्हें हटा दिया गया. हम एमएस धोनी के बारे में बात करते हैं, हम रोहित शर्मा के बारे में बात करते हैं, हम विराट कोहली के बारे में बात करते हैं … बिल्कुल नहीं. धोनी ने 3 (IPL) खिताब जीते हैं, रोहित शर्मा ने 4 खिताब जीते हैं, और यही कारण है कि उन्होंने इतने लंबे समय तक कप्तानी की, क्योंकि उन्होंने दिया. मुझे यकीन है कि अगर रोहित शर्मा ने 8 साल तक कुछ नहीं दिया होता, तो उन्हें भी हटा दिया जाता. अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग मापदंड नहीं होना चाहिए.’

गंभीर ने कहा, ‘समस्या और जवाबदेही शीर्ष से शुरू होती है… न प्रबंधन से और न ही सपोर्ट स्टाफ से, बल्कि लीडर से… आप नेतृत्वकर्ता हैं, आप कप्तान हैं. जब आपको श्रेय मिलता है, तो आपको आलोचना के लिए भी तैयार रहना चाहिए.’ मौजूदा आईपीएल में आरसीबी ने पहले 10 मैचों में 7 जीते, जबकि आखिरी पांचों गंवाए. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button