UP के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा-भाजपा जवाब दे, लगातार क्यों बढ़ रही है महंगाई

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को गोरखपुर में समाजवादी पार्टी के विजय रथयात्रा के तीसरा चरण शुरू किया। दो दिन रथ यात्रा में अखिलेश यादव गोरखपुर के साथ कुशीनगर के सभी विधानसभा क्षेत्र का दौरा करेंगे।

गोरखपुर में समाजवादी पार्टी विजय रथ यात्रा के रवाना होने के दौरान उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 2022 में भारतीय जनता पार्टी की हालत खराब है। इसी कारण चुनाव आयोग ने मतदाता सूची में बढऩे और कटने वाले वोटरों के नाम की सूची जारी नहीं की है। चुनाव आयोग को सूची जारी करनी चाहिए ताकि हम जान सकें कि कौन से वोट बढ़े हैं और कौन से वोट कटे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा को 2024 की चिंता नहीं करनी चाहिए। उन्हें 2022 में जनता के सवाल का जवाब देना चाहिए। देश में महंगाई क्यों बढ़ी। पेट्रोल-डीज़ल के दाम क्यों बढ़े। किसानों की आय अब तक क्यों नहीं बढ़ी। प्रदेश के युवाओं को रोजगार क्यों नहीं मिले।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शनिवार को गोरखपुर से अपनी ‘समाजवादी विजय यात्रा’ के तीसरे चरण की शुरुआत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह क्षेत्र गोरखपुर से की। अखिलेश यादव शनिवार और रविवार को गोरखपुर व कुशीनगर के दौरे पर रहेंगे। अखिलेश यादव रामकोला विधानसभा होते हुए खड्डा पहुंचेंगे। पडरौना विधानभा में बावली चौक पर सभा और स्वागत दोनों का कार्यक्रम होगा। शाम को अखिलेश यादव कुशीनगर जाएंगे। वहां रात्रि विश्राम करने के बाद रविवार, 13 नवंबर की सुबह वहां से निकल जाएंगे। वहां फाजिलनगर में सभा करेंगे। इसके बाद तमकुही राज विधानसभा में सेवरही पीजी कॉलेज में उनकी सभा होगी। इसके बाद उनका कसया में रोड शो होगा। कुशीनगर की सभी विधानसभा क्षेत्रों में 13 और 14 नवंबर को जाएंगे और वहां सपा के समर्थन में लोगों से मिलेंगे और सभाएं भी करेंगे। कुशीनगर से प्राइवेट प्लेन से अखिलेश यादव लखनऊ रवाना होंगे।

विधानसभा चुनाव 2017 में पीएम मोदी की लहर पर सवार उत्तर प्रदेश ने भाजपा को प्रचंड बहुमत दिया था। गोरखपुर क्षेत्र (बस्ती, गोरखपुर और आजमगढ़ मंडल) की 62 विधानसभा सीटों में से भाजपा और सहयोगियों को 46 सीटे मिली थी। विधानसभा चुनाव 2017 में गोरखपुर में समाजवादी पार्टी का खाता तक नहीं खुला था। गोरखपुर की 9 विधानसभा सीटों में से आठ पर भाजपा ने कब्जा जमाया था, जबकि एक सीट बसपा के खाते में गयी थी। कुशीनगर की सात विधानसभा सीटों में से छह पर भाजपा ने कब्जा जमाया था और एक सीट कांग्रेस के खाते में गयी थी। यहां भी सपा का खाता नहीं खुला था। 2012 के विधानसभा चुनाव में यहां पर सपा को तीन, बसपा को एक, कांग्रेस को दो और भाजपा के एक सीट मिली थी।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + 7 =

Back to top button