Video: पहली बार ऐसा हुआ था कि पाकिस्तान की जीत पर भारत में बजी तालियां, जाने क्यों?

नई दिल्ली। क्रिकेट के मैदान पर भारत-पाक काफी पुराने प्रतिद्ंदवी हैं। जब भी भारत और पाकिस्तान का मैच होता है, तो दोनों ही देशों की आवाम टीवी से चिपक जाती है। सड़कें खाली हो जाती हैं, सभी चाहते हैं कि वो इस मैच को जरूर देखें और अपने देश के जीत के लिए दुआ करें। लेकिन एक बार ऐसा हुआ था, जब पाकिस्तान की जीत पर भारत में तालियां बजी थी और हैरानी की बात तो ये हैं कि ये तालियां भारत की हार के बाद दर्शकों ने बजाई थीं। चलिए आपको बताते हैं कि ऐसा कब और क्यों हुआ था और ऐसा होने पर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर मायूस क्यों हो गए थे।

पहली बार ऐसा हुआ था कि पाकिस्तान की जीत पर भारत में बजी तालियां, जाने क्यों?

दोनों टीम का था एक जैसा हाल

1999 में भारत और पाकिस्तान के बीच चेन्नई में टेस्ट मैच खेला जा रहा था। पाकिस्तान की टीम पहले बल्लेबाज़ी करते हुए टेस्ट के पहले ही दिन सिर्फ 238 रन पर ऑलआउट हो गई। मोईन खान और मो. यूसुफ ने अर्धशतकीय पारी खेली तो भारतीय स्पिन गेंदबाज़ अनिल कुंबले ने पहली पारी में 6 विकेट झटके। भारत की पहली पारी का हाल भी लगभग पाकिस्तान जैसा ही रहा। सौरव गांगुली और द्रविड़ के अर्धशतकों की बदौलत भारत की टीम 254 तक पहुंची। सक़लैन मुश्ताक ने 5 विकेट लिए, जिसमें सचिन का विकेट भी शामिल था। सचिन तेंदुलकर इस पारी में अपना खाता तक नहीं खोल पाए थे।

दूसरी पारी में पाकिस्तान के लिए ओपनिंग करने आए शाहिद अफरीदी ने 191 गेंद पर 141 रन की ताबड़तोड़ पारी खेलकर पाकिस्तान को 286 रन तक पहुंचा दिया। भारतीय तेज़ गेंदबाज़ वेंकटेश प्रसाद ने 6 विकेट लिए और भारत को मिला 271 रन का टारगेट।

शतक ठोककर भी मायूस हो गए तेंदुलकर

पहली पारी की तरह ही दूसरी पारी में भी भारतीय बल्लेबाज़ों ने निराश किया और भारत ने 82 रन पर ही 5 विकेट खो दिए, लेकिन जब तक सचिन तेंदुलकर क्रीज पर थे, तब कोई भारतीय हार मानने को तैयार नहीं था। कमर के दर्द से जूझते हुए सचिन ने अपने करियर के शानदार शतकों में से एक सैकड़ा जड़ा। सचिन ने छठे विकेट के लिए नयन मोंगिया के साथ 136 रन की साझेदारी की। इससे पहले कि सचिन का दर्द असहनीय हो जाए, मोंगिया तेज़ रन बनाकर मैच जल्दी खत्म करना चाहते थे , लेकिन वो आउट हो गए और भारत को जीत लिए 53 रन की जरूरत थी। सचिन की पारी आखिरकार पीठ दर्द के सामने जवाब देने लगी और 136 रन बनाकर वो सकलैन को अपना अमूल्य विकेट सौंपकर पवेलियन लौट गए। सचिन जब आउट हुए उस समय टीम इंडिया जीत से महज 17 रन दूर थी।

IPL इतिहास में सबसे ज्यादा छक्के मारने वाले TOP 5 बल्लेबाज, लिस्ट देखकर चौंक जायेंगे

4 रन पर गिरे तीन विकेट

भारत को जीत के लिए 17 रन की जरूरत थी, लेकिन उसके बाकी के तीन विकेट सिर्फ 4 रन के अंदर ही गिर गए। सकलैन मुश्ताक ने दूसरी पारी में भी अपने 5 शिकार पूरे कर लिए और भारत ये मुकाबला 12 रन से हार गया। सचिन को 136 रन की पारी के लिए मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड मिला, लेकिन ये उन चुनिंदा मौकों में से एक था जब तेंदुलकर अपना का अवॉर्ड लेने भी नहीं आए।

भारतीय दर्शकों ने पाक के लिए बजाई तालियां

इस मैच का फैसला पांचवें दिन के आखिरी घंटे में हुआ। भारत की हार के बावजूद भारतीय दर्शकों ने भी निःस्वार्थ भाव से पाकिस्तान के खेल की सराहना की और पाकिस्तान की जीत में खूब तालियां बजाई। इस जीत के बाद पाकिस्तान की टीम ने भी चेन्नई के मैदान का चक्कर लगाया और भारतीय दर्शकों का इस सम्मान के लिए शुक्रिया भी अदा किया।

आपको बता दें कि भारत को ये हार आज ही के दिन ठीक 19 साल पहले यानि 31 जनवरी 1999 को मिली थी।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button