5000 साल से धरती पर ऐसे नजर रखे हुए हैं एलियंस, ऐसे सुनते हैं हमारे…

एलियंस है या नहीं यह सवाल आज भी एक सवाल ही है इसका कोई ठोस जवाब नहीं मिल पाया है हालाकि, कई बार शोध में एलियंस के अस्तित्व के बारे में बात की गई है। ऐसे में हाल ही में एक शोध में कहा गया है कि एलियंस धरती पर पिछले करीब 5,000 साल से नजरें गड़ाए हो सकते हैं। इतना ही नहीं वे हमारे पुराने रेडियो शो को सुन सकते हैं। वैज्ञानिकों ने ब्रह्मांड में ऐसे कम से कम 29 संभावित जगहों की पहचान की है जहां से एलियंस टेलिस्‍कोप की मदद से हमारे ऊपर नजर रख सकते हैं।

एलियंस के असतित्व को लेकर यह दावा न्यूयार्क के कॉर्नेल विश्वविद्यालय (Cornell University) ने एक शोध में किया है। विश्वविघायल से जुड़े प्रोफेसर लीसा कल्टेनेगर (Lisa Kaltenegger) ने बताया कि उन्होंने यह शोध उन ग्रहों की पहचान करने के लिए किया था जहां से पृथ्वी को देखा जा सकता है। साथ ही इसके जरिए यह जानने की कोशिश भी की गई कि और कहां जीवन संभव है। वैज्ञानिकों का कहना है कि हमारी धरती से 326 प्रकाशवर्ष की दूरी में कुल 2,034 तारे हैं। जिनमें से कुछ को रेडियो सिगनल भी मिलते होंगे। जिससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि हो सकता है एलियंस हमारे रेडियो शो भी सुनते होंगे।

इस शोध को करने वाले कॉर्नेल यूनिवर्सिटी न्‍यूयॉर्क के प्रफेसर लीजा काल्‍टेनेगर ने कहा, ‘उनके नजर‍िए से देखें तो हम एलियन हैं। हम जानना चाहते थे कि कौन सा तारा पृथ्‍वी को देखने के मामले में सबसे सुविधाजनक स्थिति में है क्‍योंकि यह सूरज की किरणों को रोकती है।’

प्रफेसर लीजा ने कहा, ‘हमारे गतिशील ब्रह्मांड में चूंकि तारे घूमते रहते हैं, ऐसे में यह सुविधाजनक स्थिति बदलती रहती है।’ उन्‍होंने कहा कि ऐसे सितारे जो सुविधाजनक स्थिति में हैं, उनके ऊपर जीवन की तलाश की जा सकती है। यह शोध यूरोपीय स्‍पेस एजेंसी के गैआ सैटलाइट से मिले आंकड़े पर आधारित है। इसी सैटलाइट ने हमारी आकाश गंगा का नक्‍शा बनाया है। करीब 75 ऐसे सितारे हैं जो हमारे रेडियो स्‍टेशन की आवाज को सुन सकते हैं जिसने एक शताब्‍दी पहले अंतरिक्ष में प्रसारण शुरू किया था।

वैज्ञानिक रिसर्च के आधार पर शोधकर्ताओं का कहना है कि आने वाले समय में भी एलियंस हमारी धरती पर नजर रख सकते हैं। इसी कड़ी में यह बात भी समाने आई है कि अगले 5,000 साल में 319 ग्रहों पर रहने वालों को ट्रांजिट तकनीक के जरिए हमारी दुनिया की झलक पाने का मौका मिल सकता है। इन सब की जानकारी गिया से मिले आंकड़ों की वजह से मिल पाई है।

गिया के जरिए आकाशगंगा का आंकलन किया गया है। साथ ही 300 लाइट ईयर के भीतर के तारों की एक सूची तैयार की गई है। जिसकी मदद से उन ग्रहों की गिनती होने लगी है जहां से पृथ्वी को देखा जा सकता है। इनमें से 75 इतने पास हैं कि वहां हमारे 75 रेडियो स्टेशनों की आवाजें सुनाई देती होंगी जो लगभग एक सदी पहले प्रसारित होने लगे थे।

दरअसल, वैज्ञानिकों ने फिरौन (Pharaoh) के समय से ही कम से कम 29 संभावित रहने योग्य ग्रहों की पहचान की, जहां से पृथ्वी पर नजर रखी जा सकती है। इस क्रम में शोधकर्ताओं ने ब्रह्मांड में ऐसे सौर मंडलों का नक्शा तैयार किया है जहां संभवत: एलियन्स रहते होंगे और हमारी तरह दूरबीन की तकनीकों के इस्तेमाल से पृथ्वी पर नजर रखते होंगे। शोध में ऐसे ग्रहों की पहचान भी की गई है जो धरती से 45 लाइट ईयर की दूरी पर हैं। जिनमें से कुछ चट्टान और पानी से भरे पृथ्वी के आकार के ग्रह हैं। साथ ही इनमें से 4 संतुलित तापमान वाले, रहने लायक ग्रह हैं और हो सकता है कि इन ग्रहों पर एलियंस का जीवन संभव हो।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 + 19 =

Back to top button