भारत में कोरोना से हुई पहली मौत, 77 लोग संक्रमित, दिल्ली में सभी स्कूल-कॉलेज और सिनेमाघर 31 तक बंद

कर्नाटक में 76 वर्षीय एक व्यक्ति की कोरोना वायरस से मौत की पुष्टि हुई है। सऊदी अरब से लौटे शख्स की मौत के साथ देश में इस महामारी से अब तक यह पहली मौत है। वहीं इस बीमारी के प्रसार से दिल्ली और हरियाणा सरकार ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। दिल्ली में 31 मार्च तक सभी सिनेमा हॉल, स्कूल-कॉलेज को बंद रखने का आदेश दिया गया है। देश में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 77 हो गई है, हालांकि इनमें केरल के तीन ठीक हो चुके मरीज भी शामिल हैं। इनमें 17 विदेशी नागरिक हैं।

दिल्ली सरकार ने इसके साथ ही सभी सरकारी व निजी कार्यालयों और मॉल समेत सार्वजनिक जगहों को कीटाणु रहित करने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में 500 से ज्यादा बेड तैयार हैं। खाली पड़े सरकारी फ्लैटों को भी तैयार रखा गया है।

वहीं, हरियाणा सरकार ने महामारी अधिनियम 1897 के तहत ‘हरियाणा महामारी सीओवीआईडी-19 विनियमन, 2020’ लागू किया है और यह एक साल तक लागू रहेगा। राज्य स्वास्थ्य विभाग बुधवार तक 44 संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेज चुका था। इनमें से 38 निगेटिव पाए गए हैं, जबकि छह मरीजों की जांच रिपोर्ट अभी नहीं आई है। इनमें चार गुरुग्राम और दो पंचकूला के हैं। स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि राज्य में 270 आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। सरकारी और निजी अस्पतालों में 1206 बेड तैयार किए गए हैं।

उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बृहस्पतिवार को इस वायरस से संक्रमित राज्यवार रिपोर्ट जारी की। इसमें केरल में सबसे ज्यादा 17 लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है। महाराष्ट्र में 14, यूपी में 11, जबकि दिल्ली में 6 मामलों की पुष्टि हुई है।

जयपुर के एसएमएस अस्पताल में इटली के दंपती का उपचार चल रहा था, जिनमें से महिला को स्वस्थ घोषित किया जा चुका है। जबकि पति की हालत स्थिर है। इनके संपर्क में आए अन्य संक्रमित लोगों का उपचार गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में चल रहा है। विदेशियों में सबसे ज्यादा इटली के 16 मरीज हैं और एक कनाडा की डॉक्टर हैं। जो 16 नए मामले सामने आए हैं, उनमें 11 महाराष्ट्र, दो यूपी और एक-एक दिल्ली, लद्दाख और आंध्र प्रदेश के हैं।

राष्ट्रपति भवन भी आम गतिविधियों के लिए अगले आदेश तक बंद

इसके साथ ही राष्ट्रपति भवन को भी एहतियातन आम गतिविधियों के लिए शुक्रवार से अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया है। देश में 14 नए मामलों के साथ संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 74 हो गई है। इनमें 17 विदेशी नागरिक हैं। 12 राज्यों में इसका असर देखने को मिला है।

छत्तीसगढ में 31 मार्च तक सभी कॉलेज बंद

कोरोनावायरस के चलते छत्तीसगढ़ सरकार के उच्च शिक्षा विभाग ने 31 मार्च तक प्रदेश के सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेज बंद रखने का फैसला किया है। हालांकि परीक्षाएं निर्धारित समय पर ही आयोजित होंगी।

भारत : कोरोना वायरस हेल्पलाइन 011-23978046 बनाई

सरकार ने केंद्रीय स्तर पर 011-23978046 फोन नंबर पर हैल्पलाइन बनाई है। वहीं दिल्ली सरकार ने नंबर 011-22307145 को हेल्पलाइन बनाया है। 15 राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में भी हैल्प लाइन बनाई गई हैं। इनमें बिहार, गोवा, गुजरात, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, कर्नाटक, पंजाब, सिक्किम, तेलंगाना, उत्तराखंड, दादर व नगर हवेली, दमन व दीव, लक्षद्वीप और पुडुचेरी के लिए फोन नंबर 104 हैल्पलाइन बना है। मेघालय में 108 और मिजोरम में 102 नंबर पर हेल्पलाइन बनाई गई है।

कोरोना वायरस के राज्यवार मामले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सरकार हालात को लेकर पूरी तरह सतर्क है। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह कोरोना वायरस को लेकर पैनिक न हों और सावधानी बरतें। प्रधानमंत्री ने ट्विटर से दिए संदेश में कहा कि सरकार ने पूरे देश में लोगों की सुरक्षा को लेकर कई कदम उठाए हैं। इनमें वीजा स्थगित करने से लेकर स्वास्थ्य सेवा की क्षमता बढ़ाई गई है। मंत्रियों के विदेश दौरे पर भी रोक लगा दी है। उन्होंने लोगों को गैरजरूरी यात्रा से बचने की सलाह दी है। विदेश मंत्रालय ने भी कहा है कि जरूरी न हो तो विदेश यात्रा न करें।

कोविड-19 काबू पाने योग्य महामारी : डब्ल्यूएचओ

कोरोना वायरस के वैश्विक महामारी घोषित होने के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कहा है कि यदि सभी देश इसे काबू करने के लिए कदम उठाए तो इस पर नियंत्रण पाया जा सकता है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस एधेनॉम घेब्रीसस ने बुधवार को तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस को वैश्विक महामारी घोषित किया था। गौरतलब है कि इस वायरस से पूरी दुनिया में 4500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 118 देशों में करीब 1,25,000 लोगों में इसकी पुष्टि हुई है।
करोना वायरस के चलते आईआईटी दिल्ली ने अपना कैंपस 31 मार्च तक बंद कर दिया है। इस दौरान रिसर्च वर्क, लैब, कक्षाएं और किसी भी प्रकार के आयोजन नहीं हो सकेंगे। आईआईटी में  पढ़ाई कर रहे इंटरनेशनल स्टूडेंट्स को हॉस्टल और खाने पीने की सुविधा मिलेगी रहेगी। आईआईटी दिल्ली के डायरेक्टर प्रोफेसर  वी  रामगोपाल राव के मुताबिक, करोना वायरस से बचाव के चलते कैंपस में भीड़-भाड़ आदि आयोजनों पर रोक लगाई गई है।एआईसीटीई ने हैकाथन की स्थगित

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद ने अप्रैल 2020 में आयोजित होने वाली हैकाथान  स्थगित कर दी है। करोना वायरस से बचाव के चलते इस प्रकार के बड़े आयोजन  को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। इसमैं देशभर के आईआईटी, एनआईटी और इंजीनियरिंग कॉलेजों के छात्र सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर क्षेत्रमें नई तकनीक खोजते थे । प्रतियोगिता लगातार 3 से 4 दिन तक चलनी थी।

छत्तीसगढ़ सरकार ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए राज्य में परीक्षाओं को छोड़कर स्कूल और कॉलेजों को 31 मार्च तक बंद करने का फैसला किया है। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने गुरुवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दिल्ली से लौटने के बाद आज देर शाम अपने निवास कार्यालय में आपात बैठक बुलाई और राज्य में कोरोना वायरस से निपटने के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की।

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को कोरोना वायरस से बचाव के लिए किए गए इंतजामों की नियमित समीक्षा और निगरानी करने का निर्देश दिया है। उन्होंने बताया कि बैठक में राज्य में परीक्षाओं को छोड़कर सभी स्कूल और कॉलेजों को आगामी 31 मार्च तक बंद करने का निर्णय लिया गया। परीक्षाएं अपने निर्धारित समय-सारणी के अनुसार आयोजित की जाएगी।

अधिकारियों ने बताया कि छत्तीसगढ़ में में कोरोना वायरस से निपटने के लिए राज्य सरकार ने पहले ही कार्यालयों में 31 मार्च तक बायोमेट्रिक उपस्थिति पर रोक लगा दी है।

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संबंध में केन्द्र सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा जारी निर्देशों का लगातार नियमित रूप से सभी माध्यमों में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। लोगों को सजग और जागरूक रहने तथा शासकीय कार्यक्रमों में भीड़-भाड़ से बचने की हिदायत दी गई है।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राज्य में बुधवार तक 44 लोगों के नमूने की जांच की रिपोर्ट मिल चुकी है। इनमें से किसी भी मरीज में कोरोना वायरस होने की पुष्टि नहीं हुई है।

इधर रायपुर जिले के हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय (एचएनएलयू) ने कुछ छात्रों को बुखार और जुकाम से पीड़ित होने के बाद एहतियातन 18 मार्च तक कक्षाओं को स्थगित कर दिया।

अधिकारियों ने बताया कि आज एचएनएलयू के दो छात्रों का नमूना जांच के लिए रायपुर के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भेजा गया है। यह छात्र दिल्ली और मध्यप्रदेश के जबलपुर के निवासी हैं।

इसके अलावा राज्य के सुकमा जिले में तैनात सीआरपीएफ के जवान का नमूना भी जांच के लिए भेजा गया है। इन तीन नमूनों के साथ राज्य में कोरोना वायरस के संदिग्ध नौ व्यक्तियों के नमूनों की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि जिस अर्धसैनिक बल के जवान का नमूना जांच के लिए भेजा गया है वह केरल का निवासी है तथा वहां 30 दिनों की छुट्टी बिताने के बाद सुकमा वापस लौटा है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button