यहां पर लैंड करने वाले फाइटर प्लेन की गर्जना से घबरा उठेंगे सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले: पीएम नरेन्द्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को उत्तर प्रदेश के साथ देश को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के रूप में नायाब दिया। उन्होंने 341 किलोमीटर लम्बे पूर्वांचल एक्सप्रेस का उद्घाटन किया। तोहफा देंगे। इससे पीएम मोदी सुलतानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर सुपर हरक्युलिस सी-130 जे विमान से उतरे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहां पर उनका स्वागत किया।

पीएम मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस का लोकार्पण करने के बाद जनसभा को भी संबोधित किया। उन्होंने संबोधन पूर्वी भाषा से शुरू कर वहां पर बड़ी संख्या में मौजूद लोगों का अभिवादन किया। पीएम मोदी ने कहा कि जौने धरती पर हनुमान जी कालनेमी के बध कि किए रहे उ धरती के लोगन के हम पांव लागित है। उन्होंने कहा कि 341 किलोमीटर लम्बाई वाला पूर्वांचल एक्सप्रेसवे राष्ट्र को समर्पित है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह एक्सप्रेसवे यूपी की शान है, यह यूपी का कमाल है, पूर्वांचल एक्सप्रेसवे को यूपी की जनता को समर्पित करते हुए अपने आप को धन्य महसूस कर रहा हूं। 1857 के लड़ाई मा इहां के लोग अंग्रेजन के छठी के दूध याद देवाई दे रहें। ये धरती के कण-कण मा स्वतंत्रता संग्राम के खुशबू बा। कोइरिपुर के युद्ध भला के भुलाई सकत हये। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के सौगात मिलत बा, जेके आप सब बहुत दिन से ओगरत रहिन। आप सभई के बहुत-बहुत बधाई।

प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी कुछ ही देर में हमारे फाइटर प्लेन इस पूर्वांचल एक्सप्रेसवे पर लैंड करेंगे। प्लेनों की गर्जना उनके कानों तक पहुंचेगी, जो सुरक्षा से खिलवाड़ करते रहे हैं। जितनी जरूरी देश की समृद्धि है उतनी ही जरूरी देश की सुरक्षा भी है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे की विशेषता सिर्फ यही नहीं है कि यह नौ जनपदों को जोड़ेगा बल्कि यह एक्सप्रेसवे लखनऊ को उन शहरों से भी जोड़ेगा जहां विकास की असीम संभावनाएं हैं। यह भी एक सच्चाई है कि उत्तर प्रदेश जैसे विशाल प्रदेश में एक शहर दूसरे शहर से दूर रहता था।

पूर्वांचल के लोगों के लिए तो लखनऊ पहुंचना भी महाभारत जीतने जैसा होता था। पहले की सरकारों ने यूपी को ऐसा बना दिया था कि यहां राह नहीं होती थी, यहां राहजनी होती थी। जिस तरह से यूपी में विकास हो रहा है उससे साफ है कि यूपी का भाग्य बदलना शुरू हो गया है। पहले कितनी बिजली कटौती होती थी, कौन भूल सकता है कि यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी, यहां मेडिकल सुविधा की क्या व्यवस्था थी। मुझे मालूम था कि जिस तरह से योगी आदित्यनाथ की सरकार आने से पहले वाली सरकारों ने विकास में भेदभाव किया, अपने परिवार का लाभ किया, ऐसे लोगों को यूपी के लोग रास्ते से हटा देंगे।

विपक्ष को भी दी काम करने की नसीहत

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मैं देख रहा हूं कि कुछ लोग अपना आपा खो रहे हैं, विचलित हो रहे हैं, यह सब वही लोग हैं लोग अपने समय में सफल नहीं हुए तो योगी आदित्यनाथ जी की सफलता देख कर परेशान हैं। सब अपने परिवार के विकास में लगे रहे। कभी प्रदेश व देश को अपना परिवार नहीं समझा। पीएम मोदी ने कहा कि सुल्तानपुर के सपूत श्रीपति मिश्रा जी के साथ भी तो यही हुआ था, परिवारवादी लोगों ने उनका अपमान किया था, जिसे यूपी के लोग कभी नहीं भुला सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज तो प्रदेश में विकास हो रहा है तो इसका सबसे अधिक लाभ हमारी बहनों-बेटियों को मिल रहा है। घर, बिजली पानी, शौचालय, रसोइ गैस मिलने से उनको सबसे बड़ी परेशानी से छुटकारा मिला है। अगर कोई अपना घर बनाता है तो मिट्टी की जांच करता है, अन्य पहलुओं को देखता है। पहले की सरकारों ने यहां बिना कनेक्टिविटी की जानकारी किए ही बस वादे कर दिए जिससे विकास कोसों दूर रहा। पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए विकास वहीं तक सीमित था जहां उनका घर था। लेकिन आज जितना पश्चिम का सम्मान है, उतनी ही पूर्वांचल के लिए भी प्राथमिकता है। पूर्वांचल एक्सप्रेसवे आज यूपी की इस खाई को पाट रहा है, यूपी को जोड़ रहा है। यूपी में अब कोई जातिवाद नहीं, कोई क्षेत्रवाद नहीं, सबका साथ सबका विकास के मंत्र के साथ योगी जी की सरकार काम कर रही है। भाजपा सरकार में जिस तरह से उत्तर प्रदेश को एक्सप्रेसप्रदेश बनाया जा रहा है, वह आजादी के बाद पहली बार हो रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जिस तरह से राजनीति हुई, जिस तरह से लंबे समय तक सरकारें चलीं, उन्होंने यूपी के सर्वांगीण विकास पर ध्यान ही नहीं दिया। यूपी का यह क्षेत्र तो माफियावाद और यहां के लोगों को गरीबी के हवाले कर दिया गया था। जिस तरह से यूपी में विकास हो रहा है उससे साफ है कि यूपी का भाग्य बदलना शुरू हो गया है। पहले कितनी बिजली कटौती होती थी, कौन भूल सकता है कि यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी, यहां मेडिकल सुविधा की क्या व्यवस्था थी। मुझे मालूम था कि जिस तरह से योगी आदित्यनाथ जी की सरकार आने से पहले वाली सरकारों ने विकास में भेदभाव किया, अपने परिवार का लाभ किया, ऐसे लोगों को यूपी के लोग रास्ते से हटा देंगे। यहां की पूर्व की सरकारों को मुझे देख कर हैरानी होती थी कि आखिर यूपी को किस बात की सजा दी जा रही है।  यह एक्सप्रेसवे यूपी के विकास का एक्सप्रेसवे है, यह एक्सप्रेसवे यूपी के प्रगति का एक्सप्रेसवे है, यह एक्सप्रेसवे यूपी की मजबूत होती अर्थव्यवस्था का एक्सप्रेसवे है। उन्होंने कहा कि तीन वर्ष पहले जब मैंने पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास किया था तब मैंने नहीं सोचा कि इस एक्सप्रेसवे पर ही मैं विमान से उतरूंगा भी।

हवाई पट्टी पर एयर शो ने लोगों का मन मोह लिया

पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के उद्घाटन समारोह के बाद भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों के एक्सप्रेसवे पर निर्मित 3.2 किमी लंबी हवाई पट्टी पर एयर शो ने लोगों का मन मोह लिया। यहां पर सुखोई, मिराज, जगुआर सहित वायुसेना के कई विमानों ने अपना करतब दिखाया। सुल्तानपुर जिले में एक्सप्रेसवे आपात स्थिति में भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों की लैंडिंग और टेक आफ करने में सक्षम होगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल के विकास को एक नई गति प्रदान करने के लिए दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का उत्तर प्रदेश की जनता की ओर से स्वागत करता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे सिर्फ आवागमन का माध्यम नहीं बल्कि पूर्वी उत्तर प्रदेश को विकास की एक नई जीवन रेखा के रूप में स्थापित करने वाला होगा। उन्होंने कहा कि आज तो पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन हो रहा है तो बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का कार्य में भी तेजी चल रहा है। इसके साथ ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश को पूर्वी उत्तर प्रदेश से जोडऩे के लिए गंगा एक्सप्रेस वे का काम भी तेजी से चल रहा है।

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सुलतानपुर के सुलतानपुर जिले के अरवल कीरी करवत में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर सुपर हरक्यूलिस विमान से पहुंचे। उनके आगमन से पहले कार्यक्रम स्थल पर नई दिल्ली से एसपीजी दस्ते के अधिकारी पहुंचे थे यहां पर प्रधानमंत्री को देखने और उनका संबोधन सुनने के लिए लोगों का हूजूम उमड़ा है। पीएम मोदी की सभा के बाद यहां पूर्वांचल एकसप्रेस वे पर बनी एयर स्ट्रिप पर भारतीय वायुसेना के फाइटर प्लेन के रोमांचकारी करतब भी दिखाएंगे। कार्यक्रम स्थल के आसपास के क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग वहां एकत्र हो रहे हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को जोडऩे वाली सड़कों पर लोगों के साथ वाहनों का हुजूम लगा है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के वायुसेना के सबसे बड़े जहाज से लैंड करते ही एक ग्रामीण बोला इससे पहले कभी कोई प्रधानमंत्री सेना के सबसे बड़े जहाज से खेतों किनारे की सड़क पर कभी नही उतरा। मोदी तो इतिहास बना दिस है।

पीएम मोदी की सभा के बाद यहां पूर्वांचल एकसप्रेस वे पर बनी एयर स्ट्रिप पर भारतीय वायुसेना के फाइटर प्लेन के रोमांचकारी करतब भी दिखाएंगे। कार्यक्रम स्थल के आसपास के क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग वहां एकत्र हो रहे हैं। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे को जोडऩे वाली सड़कों पर लोगों के साथ वाहनों का हुजूम लगा है। पीएम मोदी इससे पहले 2014 में सुलतानपुर में आए थे। पीएम नरेन्द्र मोदी ने ही आजमगढ़ ही जुलाई 2018 में इसका शिलान्यास किया था। यह उत्तर प्रदेश का सबसे लम्बा एक्सप्रेस वे है।

पूर्वांचल के लिए मंगलवार की सुबह मंगल संदेश लेकर आ गई है। तुलनात्मक रूप से पिछड़े रहे पूरब के इस अंचल के उम्मीदों की नई भोर हो गई है। प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के रूप में प्रदेश तथा देश की प्रगति का जो नया पथ तैयार किया है, उसके लोकार्पण के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार को दिन में करीब डेढ़ बजे सुलतानपुर यहां पहुंचे। इस एक्सप्रेस वे से इस अंचल के प्रदेश के छोटे-छोटे जिलों की दिल्ली से दूरी घट जाएगी।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रदेश में अवस्थापना सुविधाओं पर जोर देते हुए प्रदेश में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे, बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे और गंगा एक्सप्रेस वे बनाने की घोषणा की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने जुलाई, 2018 में आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेसव की आधारशिला रखी। लखनऊ से गाजीपुर तक 340.824 किलोमीटर के एक्सप्रेस वे पर मंगलवार से वाहन फर्राटा भरेंगे।

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि एक्सप्रेस वे के दोनों किनारों पर औद्योगिक गलियारे बनाए जाएंगे। यहां विभिन्न प्रकार के उद्योग स्थापित होंगे। लाजिस्टिक सुविधा बेहतर होने से स्थानीय कारोबारियों, छोटे व्यापारियों आदि को भी लाभ होगा। पूर्वांचल के छोटे-छोटे जिलों से अब लखनऊ और दिल्ली की दूरी घट गई है। दस घंटे का सफर महज साढ़े तीन से चार घंटे में तय किया जा सकेगा। इस पूर्वांचल एकसप्रेसवे का लाभ बिहार के सीमावर्ती जिलों को भी सीधे मिल सकेगा।

पुलिस चौकियों के साथ बनेंगे हैलीपैड

यूपीडा के सीईओ अवस्थी ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिया है कि एक्सप्रेस वे पर जो भी पुलिस चौकियां बनाई जाएं, उनके साथ हैलीपैड भी बनाए जाएं।

उन्होंने बताया कि यहां फ्यूल पंप के साथ सीएनजी पंप और इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित किए जाएंगे।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × three =

Back to top button