नई दिल्ली: फुटबॉल की नियमाक संस्था-फीफा ने विश्व कप के अपने ग्रुप मैच में सर्बिया के खिलाफ 2-1 की जीत के बाद अनैतिक रूप से जश्न मनाने को लेकर स्विट्जरलैंड के तीन खिलाड़ियों शेरडन शकीरी, ग्रानिट खाका और स्टीफन लिचश्टेनियर पर संयुक्त रूप से 25000 डॉलर का जुर्माना लगाया है. फीफा ने जुर्माना लगाने के अलावा निष्पक्ष खेल के प्रति मुख्य सिद्वांतों के विपरीत अनैतिक व्यवहार को लेकर भी इन खिलाड़ियों को चेताया है.FIFA WC 2018 में स्विट्जरलैंड के खिलाड़ियों ने मैदान पर मनाया जश्न, लगा जुर्माना

एक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, शुक्रवार को खेले गए मैच के बाद शकीरी और उनके साथी खाका ने मैच में गोल करने के बाद जश्न के दौरान अल्बेनिया ईगल जैसी मुद्रा बनाई थी. दोनों ने अपनी हथेलियों को बंद कर अपने सीने पर लगाया था. इसी तरह का ईगल अल्बेनिया के झंडे में है.

तीन खिलाड़ियों पर फीफा के अनुशासनात्मक संहिता के अनुच्छेद 54 के तहत आरोप लगाए गए जिसमें कहा गया, “किसी भी मैच के दौरान आम जनता को उत्तेजित करने के लिए खिलाड़ियों को दो मैचों के लिए निलंबित किया जाएगा और उस पर न्यूनतम 5000 स्विस फ्रैंक (5,063 अमेरिकी डॉलर) जुर्माना लगाया जाएगा.” हालांकि ये खिलाड़ी अगले मैच से निलंबित होने से बच गए. इस बीच, भेदभावपूर्ण बैनर के लिए सर्बियाई फुटबॉल फेडरेशन पर भी 54,000 स्विस फ्ऱैंक (54,681 अमेरिकी डॉलर) का जुर्माना लगाया गया है.