किसानों ने की मांग, रामलीला ग्राउंड पर मिले प्रदर्शन करने की अनुमति

नई दिल्ली। केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली में हजारों किसान पिछले 12 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। किसानों ने मांग की है कि उन्हें दिल्ली के रामलीला ग्रांउड में प्रदर्शन करने की अनुमति दी जाए। किसानों ने कानून के खिलाफ आज यानी मंगलवार (8 दिसंबर) को एक दिन के लिए ‘भारत बंद’ का ऐलान किया था।

दिल्ली-एनसीआर में भी चक्का जाम

पूरे देश में आज सुबह 11 बजे से लेकर शाम 3 बजे तक ‘भारत बंद’ बुलाया गया। इसका असर पूरे देशभर के अलग-अलग हिस्सों पर पड़ा। बिहार से लेकर ओडिशा और महाराष्ट्र में ट्रेनें रोकी गईं हैं। दिल्ली-एनसीआर में भी चक्का जाम शुरू हो गया है। किसानों के इस भारत बंद को कांग्रेस, आम आदमी पार्टी, सपा समेत देश की 18 राजनीतिक पार्टियों ने भी अपना समर्थन दिया।

पांच दौर की हो चुकी वार्ता

केंद्र सरकार और किसानों के प्रतिनिधियों के बीच पांच दौर की वार्ता हो चुकी है, मगर अब तक कोई हल नहीं निकल सका है। इधर आम आमदी पार्टी ने दावा किया है कि दिल्ली पुलिस ने अरविंद केजरीवाल को नजरबंद कर लिया है, मगर पुलिस ने इस आरोप का खंडन किया है।

यूपी में लॉकडाउन 4.0 के लिए जारी की गाइडलाइन, जानें क्या रहेगा खुला और क्या रहेगा बंद

‘रामलीला ग्राउंड पर मिले प्रदर्शन करने की अनुमति’

आंदोलन कर रहे किसानों में से पंजाब किसान यूनियन के आरएस मनसा ने कहा है कि हम दिल्ली या हरियाणा से किसी को भी असुविधा नहीं पहुंचाना चाहते हैं। हमें रामलीला ग्राउंड पर विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति दी जानी चाहिए।

राष्ट्रपति से मिलेंगे राहुल गांधी, पवार

सीपीआई (मार्क्सवादी) नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि , ”विपक्षी दलों का एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल कल शाम 5 बजे राष्ट्रपति कोविंद से मिलेगा। प्रतिनिधिमंडल में राहुल गांधी, शरद पवार और अन्य शामिल होंगे। कोरोना प्रोटोकॉल के कारण, केवल 5 लोगों को उनसे मिलने की अनुमति दी गई है।”

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + 3 =

Back to top button