युग गुप्ता हत्याकांडः दोषी करार हुए तीनों आरोपी, 13 को सुनाई जाएगी सजा..

- in अपराध

हिमाचल प्रदेश के शिमला में बहुचर्चित युग गुप्ता की अपहरण और हत्या के मामले में सोमवार को अदालत ने गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों को दोषी करार दे दिया. अब इस मामले में आरोपियों के खिलाफ सजा का ऐलान 13 अगस्त को किया जाएगा.

गौरतलब है कि इस दिल दहला देने वाले अपहरण और हत्या के मामले को सुलझाने में शिमला पुलिस नाकाम रही थी. उसके बाद राज्य सरकार ने इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी थी.

अपहरण और हत्या के इस सनसनीखेज मामले को विक्रांत बक्शी (22) और उसके दो साथियों चंद्र शर्मा (26) और तेजेंद्र पाल (29) ने 14 जून 2014 को अंजाम दिया था. उन तीनों ने चार साल के मासूम युग का अपहरण कर लिया था.

अपहरण के बाद आरोपियों ने बच्चे के परिजनों से फिरौती मांगी थी. लेकिन तीनों आरोपियों ने पकड़े जाने के डर से बच्चे को पहले तरह तरह की यातनाएं दी. उसे शराब पिलाई और फिर उसकी हत्या करके उसका शव पानी के टैंक में फेंक दिया था.

देवरिया कांड: तीसरी गिरफ्तारी में बच्ची ने किये कई चौंकाने वाले खुलासे

20 अगस्त 2016 को सीबीआई ने विक्रांत बख्शी को गिरफ्तार किया और उसके बाद 22 अगस्त 2016 को उसकी निशानदेही के आधार पर CBI ने शिमला के भराड़ी टैंक से बच्चे का कंकाल बरामद किया था. उसी दिन दूसरे आरोपियों चंद्र शर्मा और तेजेंद्र पाल को भी गिरफ्तार कर लिया गया था.

जांच में पाया गया कि जिस पानी के टैंक में बच्चे की लाश फेंकी गई थी, उसका पानी शिमला के लोग कई महीने तक पीते रहे. मामले की जांच कर रही सीबीआई ने 25 अक्टूबर 2016 को शिमला के डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन कोर्ट में आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की थी.

4 सालों से न्याय की बाट जोह रहे युग गुप्ता के परिजनों को अब बेसब्री से 13 अगस्त 2018 के दिन का इंतजार है. जब दोषी पाए गए तीनों आरोपियों के खिलाफ सजा का ऐलान किया जाएगा.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ा खुलासा: लॉबी से निकला कंकाल, हत्या के बाद घर में दफनाई लाश, ऊपर लगा दी तुलसी

दिल्ली के एक मकान में लॉबी में 32