विजय रथ पर सवार इंग्लैंड टीम, टीम इंडिया करेगा पलटवार…

चेन्नई में इंग्लैंड के खिलाफ शनिवार से शुरू हो रहे दूसरे क्रिकेट टेस्ट में भारतीय टीम अपनी गलतियों से सबक लेकर उतरेगी. कप्तान विराट कोहली को बखूबी पता है कि यहां कोताही बरतने का मतलब विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में स्थान गंवाना होगा. चेन्नई में यह टेस्ट सुबह 9.30 बजे से खेला जाएगा.

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ऐतिहासिक जीत का खुमार इंग्लैंड को हाथों पहले टेस्ट में 227 रनों से मिली हार के साथ ही उतर गया. अब आने वाले तीन मैचों में भारत के लिए गलती या आत्ममुग्धता की कोई गुंजाइश नहीं होगी. आमतौर पर दबाव में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले कोहली को भी बतौर कप्तान अपने फन का लोहा मनवाना होगा.

दर्शकों की मैदान पर होगी वापसी

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

इस मैच से दर्शकों की मैदान पर वापसी होगी और यह भारतीय टीम के लिए ‘टॉनिक’ का काम कर सकता है. भारत को विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल में प्रवेश के लिए दो मैच जीतने हैं और एक भी गंवाना नहीं है. इंग्लैंड ने शुक्रवार को घोषित अपनी 12 सदस्यीय टीम में 4 बदलाव किए हैं, जिसमें अनुभवी जेम्स एंडरसन को आराम देकर टीम में स्टुअर्ट ब्रॉड को शामिल किया गया है.

कप्तान जो रूट ने यह जानकारी देते हुए कहा कि अंतिम 12 खिलाड़ियों को ब्रॉड के अलावा डोम बेस की जगह मोईन अली, विकेटकीपर जोस बटलर की जगह बेन फोक्स को शामिल किया गया है. बटलर पहले टेस्ट के बाद रोटेशन नीति के तहत स्वदेश लौट गए हैं.

सुंदर आने वाले समय में बेहतरीन हरफनमौला बन सकते हैं, लेकिन अभी वह तीसरे विशेषज्ञ स्पिनर के तौर पर खेलने के काबिल नहीं हैं. कुलदीप अच्छा विकल्प हैं, लेकिन टीम प्रबंधन लगातार उनकी अनदेखी करता आ रहा है. दूसरी ओर हार्दिक दस ओवर डालने के साथ तेजी से रन बनाने में भी माहिर हैं.

पहले टेस्ट की हार के बाद टीम प्रबंधन के सामने दो विकल्प थे. पहला पिच पर घास छोड़ दी जाए और दूसरा घास हटाकर थोड़ा ही पानी डालें, ताकि पिच धूप में सूख जाए. ऐसे में यह समय से पहले टूटने लगेगी, लेकिन अतीत में ऐसे प्रयोग उल्टे पड़े हैं.

पुणे में 2017 में टर्निग पिच पर पहले ही दिन स्टीव स्मिथ ने दबाव बना दिया था. मेजबान टीम को इल्म नहीं था कि गेंद इतना टर्न लेगी. मुंबई में 2012 में केविन पीटरसन ने ऐसी ही पिच पर 186 रन बनाए थे. दोनों मैचों में विरोधी स्पिनरों ने हालात का पूरा फायदा उठाकर भारत को उसकी मांद में ही खदेड़ा था.

टॉस की भूमिका भी अहम होगी और कोहली की नजरें पहले बल्लेबाजी पर लगी होगी. रोहित शर्मा से बड़ी पारी की उम्मीद होगी, जो वह नहीं खेल पा रहे हैं. कोहली के साथ दूसरे छोर पर चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे या ऋषभ पंत को बड़ी पारी खेलनी होगी.

टीमें इस प्रकार हैं- 

भारत – विराट कोहली ( कप्तान), अजिंक्य रहाणे, रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, ऋषभ पंत, रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, वॉशिंगटन सुंदर, कुलदीप यादव, अक्षर पटेल, हार्दिक पंड्या, मयंक अग्रवाल, केएल राहुल, ऋद्धिमान साहा, शार्दुल ठाकुर.

इंग्लैंड (12 खिलाड़ी) – जो रूट (कप्तान ), डोमिनिक सिबली, रोरी बर्न्स, ओली पोप, डैन लॉरेंस, बेन स्टोक्स, बेन फोक्स, मोईन अली, क्रिस वोक्स, स्टुअर्ट ब्रॉड, जैक लीच, ओली स्टोन.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button