बड़ी खबर: बेटे-बेटी के साथ ED दफ्तर पहुंचे राज ठाकरे, इस मामले में होगी थोड़ी देर में पूछताछ

कोहिनूर इमारत मामले में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) प्रमुख राज ठाकरे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) दफ्तर पहुंच गए हैं. राज के साथ उनके बेटे अमित और बेटी उर्वशी भी हैं. ईडी थोड़ी देर में ठाकरे से पूछताछ करेगी. इससे पहले महाराष्ट्र पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी थी. मुंबई पुलिस ने गुरुवार को एमएनएस के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने के साथ ही चार थाना क्षेत्रों में एहतियातन धारा 144 लगा दी थी.

https://twitter.com/ANI/status/1164390598226382848

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के नेताओं के राज ठाकरे के आवास पहुंचने का सिलसिला भी शुरू हो गया है. मनसे नेता बाला नंदगांवकर राज ठाकरे के आवास पहुंच गए हैं. एमएनएस नेता संदीप देशपांडे को भी पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. इस दौरान संदीप देशपांडे ने दावा किया कि उन्हें कार्रवाई के बारे में सूचना नहीं दी गई थी. उधर राज ठाकरे को सम्मन दिए जाने से क्षुब्ध पार्टी के एक युवा कार्यकर्ता ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या कर ली. राज ठाकरे ने मंगलवार को ही सभी समर्थकों और कार्यकर्ताओं से व्यक्तिगत अपील की थी और कहा था कि वह हर कीमत पर शांत रहें.

चिदंबरम के बहाने इन मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका रही मोदी सरकार: कांग्रेस

मनसे के अध्यक्ष राज ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के भेजे गए सम्मन का सम्मान करेंगे. इस दौरान उन्होंने अपने समर्थकों से शांत रहने की अपील भी की. इस मुद्दे पर अपनी पहली प्रतिक्रिया में ठाकरे ने सभी मनसे कार्यकर्ताओं को संबोधित करने वाले हस्ताक्षरित बयान में कहा कि मार्च-2006 में पार्टी की स्थापना के बाद से उनके और कार्यकर्ताओं के खिलाफ अनगिनत मामले दर्ज किए गए हैं.

नोटिस के बाद राज के चचेरे भाई और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे उनके समर्थन में उतर आए. ईडी ने एक मामले की जांच के सिलसिले में राज ठाकरे को सम्मन जारी करते हुए गुरुवार को पेश होने को कहा है. उद्धव ठाकरे ने अपने आवास पर मीडियाकर्मियों से यह कहते हुए अपना परोक्ष समर्थन जाहिर किया कि ईडी की ओर से उनसे (राज ठाकरे से) पूछताछ में कुछ भी नहीं निकलेगा. उद्धव ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि ईडी की उनसे (राज ठाकरे) कल की जाने वाली पूछताछ से कोई नतीजा निकलेगा.”

ईडी ने रविवार को ठाकरे और उनके पूर्व कारोबारी सहयोगी रहे पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना नेता मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी के साथ ही एक अन्य कारोबारी सहयोगी को नोटिस जारी किया था. इसके बाद राजनीतिक हलकों में खलबली मच गई थी. गौरतलब है कि ईडी ने ठाकरे को आईएलएंडएफएस से संबंधित एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गुरुवार को अपने कार्यालय में पेश होने को कहा है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button