हवा में विमान का संतुलन बिगड़ने से गिरी विंडो, तीन यात्री हुए जख्मी

अमृतसर। श्री गुरु रामदास अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए उड़ी फ्लाइट नंबर एआइ-461 दिल्ली एयरपोर्ट से कुछ ही समय पहले तूफान में फंस गई। हवा में संतुलन बिगड़ने से विमान बुरी तरह डगमगाने लगा। घटना 19 अप्रैल की है। हादसे में सीट संख्या 18-ए के पास का विंडो पैनल टूट कर गिर गया, जिससे एक महिला यात्री घायल हो गईं। वहीं, दो अन्य यात्रियों को भी मामूली चोटें आईं।हवा में विमान का संतुलन बिगड़ने से गिरी विंडो, तीन यात्री हुए जख्मी

सीट संख्या 12-यू के पास लगे ओवरहेड पैनल में भी दरारें आई गईं और कुछ ऑक्सीजन मास्क भी खुल कर नीचे गिर गए। 10 से 12 मिनट तक उड़ान इसी स्थिति में रही। विमान में कुल 240 यात्री थे। विमान में अफरातफरी का माहौल बन गया। गनीमत रही कि शीशा नहीं टूटा, वरना बड़ा हादसा हो सकता था। घटना के वक्त विमान करीब 15 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ रहा था। विमानन महानिदेशालय सहित एयरक्राफ्ट एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेशन बोर्ड ने भी घटना की जांच शुरू कर दी है।

क्रू मेंबर ने किसी तरह से यात्रियों को शांत करवाया और अपनी सीटों पर बैठे रहने का आग्रह किया। घटना की वायरल हुई वीडियो में विमान में बैठे सभी यात्री सहमे हुए दिख रहे हैं। पायलट ने जब विमान को तूफान से निकालने का प्रयास किया, तो वह करीब ढाई हजार फीट नीचे आ गया।

अमृतसर से दिल्ली आ रही एयर इंडिया की उड़ान में हुई घटना, एजेंसियां कर रही जांच

विमान के पायलट ने कुछ ही पलों में ही विमान पर नियंत्रण पा लिया था व सफलतापूर्वक दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर लैंड करवा दिया। एयरपोर्ट पर जख्मी एक यात्री को टांके लगाए गए। दो अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। एयर इंडिया के अमृतसर एयरपोर्ट पर स्टेशन मैनेजर अशोक कुमार ने बताया कि घटना वाले दिन मौसम खराब था। विमान के बादलों और तूफान में फंस जाने से विमान डगमगा गया था। बिना सीट बेल्ट बांधे यात्री जख्मी हुए थे।

यात्रियों ने कहा, बाल-बाल बचे

यात्री मनु अरोड़ा ने बताया कि वह अपनी पत्नी के साथ इसी विमान में थे। जैसे ही जहाज का नियंत्रण बिगड़ा सब घबरा गए। विमान के अचानक नीचे आने से यात्रियों को लगने लगा था कि अब बचना मुश्किल है। गुरुनानक देव अस्पताल के डॉ. अमरबीर सिंह ने बताया कि विमान के उडऩे के पंद्रह मिनट बाद ही वह तूफान की चपेट में आ आया और उसका बैलेंस बिगडऩे से वह दो बार नीचे की तरफ गया। जिन लोगों ने बेल्ट बांधी हई थी, उनका बचाव हो गया, जबकि कुछ के सिर सीट के ऊपर बने रैक से टकराए।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button