वहीं विपक्ष ने इस हादसे के लिए सरकार की तैयारियों पर सवाल उठाए हैं. राजस्थान में विपक्षी नेता सचिन पायलट ने कहा है कि प्रशासन को पता था कि इस इलाके में एक बड़ा कार्यक्रम होने जा रहा है ऐसे में जो इंतजाम किए जाने चाहिए थे वो नहीं किए गए. श्रीगंगानगर के सांसद निहाल सिंह चौहान ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है और अगर ये पता चलता है कि बिना अनुमति के कार्यक्रम किया जा रहा था तो सख्त एक्शन लिया जाएगा. घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, अभी तक किसी की जान जाने की खबर नहीं है लेकिन कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में इसकी आशंका जताई जा रही है.