डोनाल्ड ट्रंप ने गोलीबारी की घटनाओं को रोकने के लिए लिया संकल्प

गोलीबारी की घटनाओं पर कार्रवाई के बढ़ते दबाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसका स्थायी हल तलाश करने का संकल्प लिया और पिछले सप्ताह फ्लोरिडा में हुई गोलीबारी जैसी घटनाओं को रोकने के लिए खास तौर पर प्रशिक्षण प्राप्त शिक्षकों को हथियारबंद करने का विचार पेश किया. फ्लोरिडा के एक स्कूल में हाल में हुई गोलीबारी की घटना में 17 लोग मारे गए थे. मारजोरी स्टोनमैन डगलस हाई स्कूल में 14 फरवरी की गोलीबारी में जिंदा बचे लोगों और मृतकों के परिजनों से भावनाओं से भरी दास्तानों पर प्रतिक्रिया करते हुए श्रुति सत्र के ‘‘दो मिनट’’ बाद स्कूलों में गोलीबारी पर कार्रवाई करने का संकल्प लिया.

 डोनाल्ड ट्रंप ने गोलीबारी की घटनाओं को रोकने के लिए लिया संकल्प

कार्यक्रम की मेजबानी व्हाइट हाउस के स्टेट डाइनिंग रूम ने की जिसमें ट्रंप नाराज छात्रों और अभिभावकों से रूबरू हुए जिन्होंने बंदूक से होने वाली हिंसा के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की. ट्रंप ने कहा, ‘‘ हम सबकुछ सीखना चाहते हैं जो हम सीख सकते हैं.  इस बैठक के करीब दो मिनट बाद हम काम करने जा रहे हैं.  यह एक दीर्घकालीन स्थिति है जिसे हम मिल कर हल करेंगे. ’’ ट्रंप ने कहा कि उनका प्रशासन बंदूक खरीदने की आयु और ‘‘मानसिक स्वास्थ्य’’ के पहलू को भी देखेगा.

ट्रंप ने पहले की गई अपनी टिप्पणियों के बारे में ट्विटर के माध्यम से स्पष्टीकरण दिया, ‘‘ मैंने यह कभी नहीं कहा कि ‘‘शिक्षकों को बंदूकें’’ थमा दी जाएं.  मैंने केवल इतना कहा कि बंदूकों से परिचित शिक्षकों को छिपाकर रखने वाली बंदूकें दी जाए, उन शिक्षकों को जिनके पास सैन्य अथवा विशेष प्रशिक्षण का अनुभव हो.  20 फीसदी शिक्षक काफी होंगे.  अगर कोई कू्र पागल गलत इरादों के साथ स्कूल आता है तो वह तुरंत उसका जवाब दे सकें. ’’ उन्होंने जोर देते हुए कहा,‘‘ अच्छी तरह प्रशिक्षित शिक्षक ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वाले कायरों से बचाव कर सकेंगे. ’’ राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘ आपने असाधारण पीड़ा झेली है और हम नहीं चाहते कि कोई और उस पीड़ा से गुजरे.

निर्जन टापू पर एक लाख रोहिंग्‍या को बसाएगा बांग्लादेश

यह सही नहीं होगा. ’’ इस दौरान स्कूल हमले में मारी गयी एक छात्रा के पिता ए. पोलॉक ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि देश एकजुट हो जाए. पोलॉक ने कहा, ‘‘एक राष्ट्र के रूप में हम अपने बच्चों को बचाने में नाकाम रहे.  यह नहीं होना चाहिए था. ’’ एक छात्र सैम जेफ ने स्कूल की घटना के बाद दोबारा स्कूल जाने, यहां तक की पार्क जाने में भी भय लगने की बात कही.  उस घटना में उसका एक दोस्त मारा गया था.

ट्रंप ने सभी की बातों को गंभीरता के साथ सुना और लोगों से पूछा कि क्या उनके पास स्कूल में गोलीबारी की घटनाओं को रोकने के लिए कोई सुझाव हैं. तभी कार्यक्रम में मौजूद एक व्यक्ति ने सुझाव दिया कि स्कूल में टीचर, प्रशासकों जिनके पास भी हथियार रखने का लाइसेंस है वे कक्षाओं में हथियार लॉक करके सुरक्षित रख सकते हैं, और उन्हें प्रशिक्षण दिया जा सकता है. ऐसा प्रतीत हुआ कि ट्रंप को यह सुझाव पसंद आया.

You may also like

सेना के इशारे पर काम करती है पाकिस्‍तान सरकार : पूर्व PM अब्‍बासी

इस्‍लामाबाद : पाकिस्‍तान से पूर्व प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्‍बासी ने वहां की