डॉक्टरों की बड़ी खोज, अब महिलाये फिर से हो सकती हैं वर्जिन, मात्र इतने टाइम और इतने खर्च में…

- in जीवनशैली

क्या होती है रीवर्जिनिटी

री-वर्जिनिटी को समझने से पहले यह जानना जरूरी है कि वर्जिनिटी क्या है? महिला की वेजाईना में स्किन की एक पतली परत होती है जिसे झिल्ली (हाईमन) भी कहते हैं। महिला के कभी पुरूष शारीरिक से संबंध् नही बनाने तक यह झिल्ली बनी रहती हैं। इस झिल्ली के बने रहने को ही वर्जिनिटी कहते हैं।

वेजाईना में पहली बार लिंग प्रवेश करने पर यह झिल्ली (हाईमन) फट जाती है जिससे ब्लड निकलने लगता है। इस झिल्ली के फटने के और दूसरे कारण भी हो सकते हैं जैसे खेल-कूद, एक्सरसाईज या घुड़सवारी करना आदि। आजकल कॉस्मेटिक सर्जरी से इस झिल्ली (हाईमन) को फिर से बनाया जा सकता है। सर्जरी के इसी प्रोसेस को हाईमन रिपेयर या री-वर्जिनिटी कहते हैं।

क्यों बढ़ रहा रि-वर्जिनिटी का चलन

भारत में रूढ़िवादिता का बहुत महत्व है और लोग यहाँ संयुक्त परिवार में रहते हैं जिसमें कुछ बातों का कठिनता से पालन किया जाता है उनमें से एक महिला का शादी से पहले सेक्स संबंध् नही बनाना।

हमारा देश पुरूष प्रधान होने के कारण केवल महिलाओं की वर्जिनिटी को ही महत्व देता है। ऐसे में अगर शादी से पहले उसकी वर्जिनिटी ब्रेक हो जाती है तो उस महिला को परिवार और समाज से इसका दंड भुगतना पड़ता है। उसे यह भी  डर लगा रहता है कि शादी के बाद अगर उसके पति को पता चल जाता है तो उसके वैवाहिक जीवन के लिए यह बड़ी प्रोबलम हो सकती है। इसी कारण से ज्यादातर लड़कियों में रि-वर्जिनिटी का चलन तेजी से बढ़ रहा है। समाज के डर से कभी-कभी महिला का परिवार भी इसमें उनका सहयोग करता है।

अगर आप भी कराते हैं हेअर कलर, तो आपके लिए ही है ये जरूरी खबर

कैसे होती रि-वर्जिनिटी

भारत के कईं बड़े शहरों के हास्पिटल्स में हाईमेनोप्लास्टी (Hymenoplasty)  नामक सर्विस दी जा रही हैं। इसमें पेशेन्ट के शरीर से मेच करने वाले हिस्से से स्किन लेकर झिल्ली (हाईमन) को पहले जैसा बनाने का प्रयास किया जाता है।

कितना समय और खर्च लगता हैं रि-वर्जिनिटी मे

इस सर्जरी में लगभग एक घंटा तक लग जाता है। इसमें आने वाला खर्च पब्लिक हास्पिटल में लगभग पन्द्रह से बीस हजार और प्राईवेट हास्पिटल में यह पचास से सत्तर हजार तक होता है।

You may also like

अगर आपके शरीर के इस हिस्से में होता है दर्द तो आपको होने वाला है कैंसर

कैंसर एक ऐसी अवस्था है जिसमें शरीर के