श्रावण मास की पूर्ण‍िमा को रक्षाबंधन का त्‍योहार मनाया जाता है. इस दिन बहनें अपने भाई को रक्षा सूत्र बांधती हैं और ईश्‍वर से उसकी लंबी आयु की और रक्षा की कामना करती हैं. इस बार रक्षाबंधन का त्‍योहार 26 अगस्‍त को है और इसके साथ ही सावन का महीना भी समाप्‍त हो जाएगा.इस रक्षा बंधन में करें इस विधि से पूजन, और ऐसे बांधे भाई को प्यार

रक्षा बंधन के दिन बहनें वैसे तो भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं लेकिन ज्‍योतिष में इस दिन मंत्रों के रक्षा सूत्र को बांधने की बात भी कही गई है. यानी राखी के साथ बहन यदि खास मंत्रों का उच्‍चारण करती है तो भाई पर कोई भी आपत्‍त‍ि या विपदा नहीं आती और वह हर क्षेत्र में विजयी होता है. ज्‍योतिषाचार्य विनोद मिश्र के अनुसार दरअसल, वास्‍तविक रक्षा सूत्र मंत्रों का ही होता है. इसलिए राखी बांधने के दौरान खास मंत्रों का उच्‍चारण जरूर करना चाहिए. इसके बगैर राखी का त्‍योहार अधूरा होगा.

इस मंत्र का करें उच्‍चारण 

“येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:
तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल”

या

ॐ यदाबध्नन्दाक्षायणा हिरण्यं, शतानीकाय सुमनस्यमाना:।
तन्मस्आबध्नामि शतशारदाय, आयुष्मांजरदृष्टिर्यथासम्।।

इस विधि से बांधे राखी

1. सुबह-सुबह स्‍नान कर साफ और नया वस्‍त्र धारण करें.

2. चावल के आटे से चौक पूरें और फिर एक मिट्टी के घट या मटके की स्‍थापना करें. घट या मटका छोटा हो.

3. उसका पूजन करें. आरती करें, तिलक लगाएं, फूल चढ़ाएं और फिर रक्षा सूत्र बांधकर मिष्‍ठान चढ़ाएं.

4. इसके बाद अपने भाई को लकड़ी के बने पीढ़े पर बिठाएं. ध्‍यान रहे कि भाई का मुख पूर्व दिशा की ओर ही होना चाहिए और बहन का पश्‍च‍िम दिशा की ओर.

5. भाई की आरती उतारें और उसे रोली, दही और अक्षत का टीका लगाएं.

6. फिर भाई के दाईं कलाई पर रक्षा सूत्र यानी राखी बांधें और राखी बांधते हुए इस मंत्र का उच्‍चारण करें
“येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबल:
तेन त्वामनुबध्नामि रक्षे मा चल मा चल”

7. इसके बाद भाई को मिष्‍ठान खिलाएं.

रक्षाबंधन 2018 राखी बांधने का मुहूर्त 2018

रक्षाबंधन 2018 राखी बांधने का शुभ मुहूर्त : सुबह 05:59 से शाम 17:25 तक.

मुहूर्त की अवधि : 11 घंटे 26 मिनट

रक्षाबंधन में अपराह्न मुहूर्त : 13:39 से 16:12 तक

मुहूर्त की अवधि : 02 घंटे 33 मिनट