इस वजह से दलाई लामा से नहीं मिलेंगे फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने गुरुवार को आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा से मुलाकात की संभावना को पूरी तरह से खारिज कर दिया। मैक्रों ने यह निर्णय इसलिए लिया क्योंकि वह चीन को नाराज नहीं करना चाहते हैं  । उन्होंने साफ कहा कि चीन के साथ इस मुद्दे पर विचार किए बगैर दलाई लामा से मिलना चीन की सरकार के साथ ‘तनावपूर्ण’ स्थिति पैदा कर सकता है।

बता दें कि फ्रांस के राष्ट्रपति इस समय अमरीका के दौरे पर हैं। तीन दिवसीय यात्रा के अंतिम चरण में जॉर्ज वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी के छात्रों के साथ बातचीत करते हुए उन्होंने दलाई लामा से मुलाकात पर अपना रुख स्पष्ट किया। उन्होंने कहा कि जब वह राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार थे तब पेरिस में वह दलाई लामा से मिले थे। मैक्रों ने आगे कहा, ‘अब में फ्रांस का राष्ट्रपति हूं। अगर अब मैं उनसे मिलता हूं तो चीन के साथ निश्चित ही तनाव पैदा होने का खतरा होगा।’

वैज्ञानिकों ने 3डी प्रिंटर के जरिए खुद से आकार बदलने वाले प्लास्टिक उत्पाद विकसित किए

उन्होंने कहा कि केवल चीन को एक संकेत भेजने भर के लिए बिना किसी पूर्व शर्त के ऐसा करना बेकार और प्रतिकूल असर डालने वाला होगा। दरअसल, चीन आरोप लगाता रहा है कि दलाई लामा अलगाववादी आंदोलन चला रहे हैं जबकि आध्यात्मिक गुरु ने इससे साफ इंकार किया है। दलाई लामा हजारों तिब्बतियों के साथ भारत में शरण लिए हुए हैं। विदेश के कई नेता उनसे खुलेआम मुलाकात करने से कतराते हैं। वे सभी चीन से टकराव मोल लेने से बचना चाहते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

यहां 3 महीने पहले हो रहा क्रिसमस सेलिब्रेशन, वजह जान आंखों में आ जाएगा पानी

यूं तो हर साल क्रिसमस सेलिब्रेशन 25 दिसंबर