मंगलवार के दिन बिल्कुल नहीं करना चाहिए ये 5 काम

मंगलवार का दिन प्रभु श्री राम भक्त बजरंग बली का होता है। बजरंग बली श्रद्धालुओं के लिए ये दिन बहुत विशेष होता है। कहा जाता हैं कि मंगलवार के दिन बजरंग बली की पूजा करने से जिंदगी के सभी कष्ट दूर हो जाते हैं। मंगलवार को यदि आप पूरी श्रद्धा एवं भावना के साथ बजरंग बली की आराधना करते हैं तो भगवान सभी दुखों को दूर करके जिंदगी में सुख संपत्ति देते हैं। मंगलवार के दिन कुछ ऐसे काम किए जाते हैं जिनका करना बेहद अमंगलकारी भी होता है। कई ऐसे काम हम मंगलवार को कर देते हैं, जो कि नहीं करने चाहिए। आज हम आपको बताते हैं कि मंगलवार के दिन किन-किन कामों को करने से आपको बचना चाहिए।

मंगलवार को ना करें ये काम:- मंगलवार को मंगल ग्रह का दिन भी कहा जाता है। इस दिन सभी श्रद्धालु हनुमान जी की आराधना करते हैं। किन्तु कई इस दिन हम जाने अनजाने ऐसा काम कर देते हैं कि जिसकी जिंदगी में अशुभ प्रभाव पड़ता है। कहा जाता है कि कुछ ऐसे काम होते हैं जिन्हें मंगलवार के दिन बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

भूलकर भी न करें चिकन और शराब का सेवन:- मंगलवार का दिन बजरंग बली का होता है, ऐसे में इस दिन कभी गलती से भी शराब और चिकन का सेवन बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। यदि आप बजरंग बली की पूजा करते हैं तथा फिर भी मंगलवार के दिन इन चीजों का सेवन करते हैं तो जिंदगी में नकारात्मक असर पड़ने लगता है।

अशुभ होता है बाल और नाखून काटना:- जहां तक हो कभी भी मंगलवार के दिन बाल कटवाना, शेविंग कराना तथा नाखून काटना नहीं चाहिए। यदि ये काम आप मंगलवार को करते हैं तो ये बेहद ही अशुभ होता है। यदि आप ऐसा करते हैं तो जिंदगी में धन तथा बुद्धि की हानि हो जाती है।

धारदार चीजें बिल्कुल न खरीदें:- हमको क्या पता है कि मंगलवार को कुछ चीजों को भी नहीं क्रय करना चाहिए। आपको बता दें कि इस दिन धारदार चीजें क्रय करने से परिवार में कलेश बढ़ता है, जहां तक को छुरी, कैंची, कांटा आदि बिल्कुल भी नहीं क्रय करना चाहिए।

काले रंग के वस्त्र न पहनें:- मंगलवार के दिन जहां तक हो काले रंग के वस्त्र नहीं पहनने चाहिए। काले वस्त्र पहनने से शनि का असर बढ़ता है। कहा जाता हैं कि शनि और मंगल का संयोग बहुत कष्टकारी एवं अशुभ होता है। ऐसे में मंगलवार के दिन काले कपड़े की जगह लाल रंग के वस्त्र पहनने चाहिए।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 16 =

Back to top button