डोकलाम पर नहीं हुई चर्चा लेकिन सीमा पर शांतिपूर्ण रिश्‍ते बनाए रखने पर दोनों देश सहमत: विदेश सचिव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग की मुलाकात के बाद विदेश सचिव गोखले ने शनिवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस किया. उन्होंने बतायाकि इस दौरे में पीएम मोदी और चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग के बीच चार बैठकें हुई और इस दौरान दोनों देश सीमा पर शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखने को लेकर सहमत हुए. बताया गया कि दिल्ली से तय हुआ था कि कोई समझौता नहीं होगा, लेकिन दोनों देश कुछ मुद्दों पर सहमत हुए हैं. हालांकि डोकलाम और बेल्ट ऐंड रोड प्रॉजेक्ट जैसे विवादित मुद्दों पर दोनों नेताओं के बीच कोई बात नहीं हुई.

विदेश सचिव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग दोनों देशों के बीच रणनीतिक बातचीत को और सुदृढ़ करने पर सहमत हुए हैं. संवाद मजबूत करने और विश्वास और आपसी समझ विकसित करने के लिए दोनों नेता अपनी-अपनी सेना को रणनीतिक दिशा- निर्देश जारी करेंगे.

दोनों नेताओं ने आतंकवाद को दोनों देशों के लिए खतरा माना और इससे निपटने के लिए सहयोग करने की प्रतिबद्धता जताई. वहीं सूत्रों का कहना है कि भारत और चीन, अफगानिस्तान में साझा आर्थिक परियोजना शुरू करेंगे.

विदेश सचिव ने बताया कि पीएम मोदी और जिनपिंग के बीच व्यापार और पर्यटन के मुद्दे पर बातचीत हुई. दोनों शीर्ष नेताओं ने गंगा नदी की सफाई और खेलों के मुद्दों पर भी चर्चा की. पीएम मोदी ने STRENGTH की बात की जो शी जिनपिंग को पसंद आई. भारत-चीन की फिल्में दोनों देशों में दिखाई जाएंगी.

फेसबुक की चेतावनी- और लीक हो सकता है डाटा

भारत-चीन विश्व की दो बड़ी शक्तियां हैं और दोनों ने तय किया है कि हम शांतिपूर्ण रिश्ते बनाए रखेंगे. दिल्ली से तय हुआ था कि कोई समझौता नहीं होगा, लेकिन दोनों देश कुछ मुद्दों पर सहमत हुए हैं.

भारत-चीन की पूरी सीमा पर शांति बनी रहेगी. आतंकी मसूद अजहर को लेकर दोनों देशों के बीच बातचीत नहीं हुई. भारत-चीन की पूरी सीमा पर शांति बनाए रखने और सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के लिए बातचीत हुई है. सीमा विवाद को खत्म करने की कोशिश की जाएगी.

 
 
 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अमेरिका के मध्यावधि संसदीय चुनाव में 12 भारतवंशी मैदान में

अमेरिका में छह नवंबर को होने वाले मध्यावधि