उत्तराखंड में 65.75 रुपये प्रति लीटर की दर से बिका है डीजल

- in उत्तराखंड, राज्य

देहरादून: शनिवार को देहरादून समेत उत्तराखंड में डीजल 65.75 रुपये प्रति लीटर की दर से बिका है। पिछले दस दिनों से पेट्रोल-डीजल के दामों में आंशिक वृद्धि जारी है। डीजल अब पिछले चार वर्षों में 10.23 की बढ़ोतरी के साथ सर्वाधिक दाम पर पहुंच चुका है। वहीं, पिछले छह माह में पेट्रो पदार्थों के दामों का विश्लेषण करें तो डीजल 6.11 व पेट्रोल 3.36 रुपये महंगा हो गया है। उत्तराखंड में 65.75 रुपये प्रति लीटर की दर से बिका है डीजल

वर्ष 2014 से पेट्रो पदार्थों के दाम अंतरराष्ट्रीय बाजार पर निर्भर हैं। केंद्र सरकार ने तेल कंपनियों को अंतराष्ट्रीय बाजार के पेट्रो पदार्थों के दामों का मूल्यांकन के बाद वृद्धि करने का अधिकार दे रखा है। पिछले चार वर्षों में पेट्रो पदार्थों के सबसे ज्यादा दामों पर नजर डालें तो डीजल 55.52 व पेट्रोल 79.20 रुपये वर्ष 2014 के शुरू में बिका था। आज देहरादून समेत उत्तराखंड में डीजल तकरीबन 65.75 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। जबकि पेट्रोल का दाम 76 रुपये पहुंच गया है, वहीं, एक नवंबर 2017 के बाद से उत्तराखंड में पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है। एक नवंबर को डीजल 59.64 व पेट्रोल 72.64 रूपये प्रति लीटर बिका था।  

पिछले आठ दिनों में बढ़ोतरी

तारीख———-डीजल———पेट्रोल

21 अप्रैल——65.75———76.00 

20 अप्रैल——65.60———75.90

19 अप्रैल——65.56———75.89

18 अप्रैल——-65.48——–75.85

17 अप्रैल——-65.48——–75.85

16 अप्रैल——-65.48——–75.85 

15 अप्रैल——-65.40——–75.82

14 अप्रैल——-65.33——–75.78

जेब कट रही, आम आदमी अंजान

पेट्रो पदार्थों के दाम अंतरराष्ट्रीय बाजार पर निर्भर होने के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम में कुछ ही पैसों की आंशिक बढ़ोतरी होती है। इसका आमजन कोई विरोध नहीं करता है, लेकिन जब पिछले दो-तीन माह के लगातार हो रही वृद्धि पर गौर करें तो यह कहीं ज्यादा पहुंच जाती है। थोड़ी-थोड़ी वृद्धि से आम आदमी जेब कट रही है लेकिन वह तेल कंपनियों की गणित से अंजान बना है। 

अमरकांत गर्ग ( अध्यक्ष देहरादून पेट्रोल पंप वेलफेयर एसोसिएशन) का कहना है कि पिछले 10 दिनों से डीजल-पेट्रोल के दामों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। पिछले वर्षों में भी पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं। उत्तराखंड में शनिवार को डीजल सर्वाधिक दाम के साथ बिका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

उजड़े गांव को बसाने के लिए सांसद अनिल बलूनी ने की पहल, गोद लिया यह गांव

भाजपा के राज्य सभा सांसद अनिल बलूनी ने