बेटी ने खोली बाप की करतूत की पोल, पुलिस ने किया गिरफ्तार

बेटियों के बहादुरी के किस्से कई हैं। अपने साहस से समाज-परिवार को मोडऩे में इनका अहम योगदान रहा है। बिहार के बक्‍सर जिले के नया भोजपुर ओपी के चिलहरी गांव की एक बेटी ने ऐसे ही साहस का परिचय दिया है। गांव के गोपाल यादव की बेटी पिंकी कुमारी ने अवैध हथियार व कारतूस रखने के आरोप में अपने ही पिता के खिलाफ थाना में एफआइआर दर्ज कराया है। पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए दूसरे दिन ही आरोपित पिता को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे भेज दिया।

बेटी ने खोली बाप की करतूत की पोल, पुलिस ने किया गिरफ्तार

दर्ज प्राथमिकी में पिंकी का कहना है कि उसके पिता कभी-कभार शराब पीकर घर आते थे तथा उसे मारते पीटते रहते हैं। इसे बर्दाश्त करना पिंकी ने अपनी नियति मान ली थी। लेकिन, गुरुवार को पिंकी का धैर्य उस वक्त जवाब दे गया, जब वह पशुओं के लिए भूसा घर में चारा लेने गई। भूसा निकालते वक्त उसका हाथ किसी सख्त चीज से टकराया।

जब उसने गंभीरता से देखा तो पाया कि यह देशी कट्टा है और उसके साथ चार जिंदा कारतूस और एक खोखा भी मिला। उसे नहीं पता था कि उसके पिता अवैध हथियार भी रखते हैं। लेकिन, सुबूत हाथ आते ही अपने भाई सूरज को लेकर सीधे नया भोजपुर ओपी पहुंची तथा अपने पिता के खिलाफ आवेदन लिखकर साक्ष्य के साथ पुलिस को थमा दिया।

पुलिस ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए एफआइआर दर्ज करने के बाद पिंकी के पिता गोपाल को छापेमारी कर शनिवार की शाम गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पिंकी के इस साहस का पुलिस महकमे में जमकर चर्चा हो रही है।

गोपाल यादव की कहानी इतनी ही नहीं है। पिछले पांच साल पूर्व पिंकी की मां को भी शराब के नशे में मारपीट कर घर से खदेड़ चुका है। उसकी मां अपने मायके कोलकाता में रहती है। पिंकी अपने छोटे भाई सूरज के साथ पिता के साथ रहती है। जाहिर सी बात है इस घटना के बाद मां के ममता से वंचित पिंकी पिता की छत्रछाया से भी महरुम होगी। बावजूद, इसके उसका यह प्रयास पिता को गलत से सही रास्ते पर लाने में निश्चित रूप से सहायक हो सकता है।

Loading...

Check Also

रणजी मुकाबल: मणिपुर की पूरी टीम 185 रन पर आउट...

रणजी मुकाबल: मणिपुर की पूरी टीम 185 रन पर आउट…

रणजी मुकाबले के तीसरे दिन मणिपुर ने 143 रन के बाद खेलना शुरू किया। लगातार …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com