कई एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर है चक्रफूल, इन 5 रोगों का करता है नाश

- in हेल्थ

चक्रफूल एक तरह का हर्ब है जिसे गरम मसालों में प्रयोग किया जाता है। सूखे मसालों में चक्रफूल का बहुत महत्व है। साउथ इंडियन फूड्स में इसका बहुत इस्तेमाल किया जाता है। इसका आकार स्टार जैसा होता है इसलिए अंग्रेजी में इसे स्टार एनिस कहते हैं। स्टार एनिस यानि चक्रफूल में ढेर सारे गुण हैं। ये कई तरह के पोषक तत्वों और एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर होत है। अपनी तेज, सुखद खुशबू के कारण, इसका इस्‍तेमाल बिरयानी, सीफूड और अन्‍य शाकाहारी व्‍यंजनों में किया जाता है। आइये आपको बताते हैं कि मसालों में प्रयोग किए जाने वाला ये चक्रफूल कितना फायदेमंद है।कई एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर है चक्रफूल, इन 5 रोगों का करता है नाश

डिप्रेशन को करता है दूर

स्टार ऐनिस का खुशबूदार तेल तन-मन को अंदर से ताजा कर देता है, इसलिये इसका प्रयोग एरोमाथेरेपी के लिए किया जाता है। इसके तेल का मसाज करने से चिंता और डिप्रेशन दूर भागते हैं और मन को शांति और सुकून मिलता है। इसकी मनमोहक खुश्बू और स्वास्थ्य लाभों की वजह से ही इसे मसाले के रूप में प्रयोग किया जाता है।

डाइजेशन के लिए है फायदेमंद

स्टार ऐनिस बच्‍चों और बड़ों दोनों के पेट के लिये अच्‍छा है। यह पाचन में सुधार करने, ऐंठन को कम करने और मतली को कम करने में मदद करता है। भोजन के बाद ऐनिस की चाय लेने से सूजन, गैस, अपच और कब्ज जैसे पाचन संबंधी रोगों के इलाज में मदद मिलती है। ऐनिस में आपकी पसंदीदा मसाला चाय के मुख्य घटकों में से एक है।

होते हैं ढेर सारे एंटीऑक्सिडेंट्स

स्‍टार ऐनिस में मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन ए और सी, डायबिटीज और जल्‍द उम्र बढ़ने के लिए जिम्‍मेदार फ्री रेडिक्‍लस से लड़ने में मदद करता है।

अच्छी नींद के लिए चक्रफूल

स्टार ऐनिस में दर्द दूर करने वाले गुण होते हैं, इससे ये अच्‍छी नींद दिलाने में सहायक होता है। सोने से पहले इसे दूध में मिलाकर पीने से अच्‍छी नींद आती है।

महिलाओं को मिलता है विशेष लाभ

स्‍टार ऐनिस की चाय या इसे दूध में मिलाकर पीने से ब्रेस्‍टफीडिंग कराने वाली महिलाओं में दूध का उत्‍पादन बढ़ता है। इसमें मौजूद एनेथोल (Anethole) से महिलाओं की हार्मोनल स्‍वास्‍थ्‍य बेहतर होता है।

मुंह की बदबू से राहत

यह मसाला मुंह की दुर्गंध को रोकने के लिए कारगर होता है। ऐनिस की चाय बहुत ही अच्‍छा माउथवॉश बन सकता है, जो मुंह से बैक्‍टीरिया को दूर करने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अवसाद, मधुमेह से डिमेंशिया का खतरा

एक नए अध्ययन से यह खुलासा हुआ है