यहां बचपन में ही काटकर कर सिल दिया जाता है लड़कियों का प्राइवेट पार्ट

- in ज़रा-हटके
आज भी दुनिया में अन्धविश्वास और गन्दी परम्पराएं खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। दुनियाभर में ना जाने कितनी ही ऐसी परम्पराएं हैं जो बहुत ही अजीब-अजीब तरह की हैं। भारत के कई ऐसे गाँवों की जहां पर महिलाओं के प्राइवेट पार्ट्स को काटकर उसे सिल दिया जाता हैं। कई ऐसी जगह है जहां पर महिलाओं के प्राइवेट पार्ट्स पर ब्लेड लगाकर उसे सिल दिया जाता हैं और उस प्रक्रिया को खतना कहा जाता हैं।
सिल दिया जाता है लड़कियों का का प्राइवेट पार्ट:
इसे करने के पीछे लोगों का मानना है कि ऐसा करने से लड़की की सेक्स की इच्छा नियंत्रित रहती है। कहीं पर इसे परम्परा का नाम दिया जाता हैं तो कही पर इसे रीती-रिवाज का। जो लडकियां इस बात को नहीं मानती उनका समाज से बहिष्कार कर दिया जाता है। महिलाओं का खतना अफ़्रीकी देशों, यमन, इराकी, कुर्दिस्तान, एशिया, इंडोनेशिया, जैसे देशो में अधिकतर होता हैं।
किया जाता है खतना:
भारत के कई ऐसे हिस्से हैं जहां पर आज भी महिलाओं, लड़कियों और बच्चियों के साथ ऐसा होता हैं। खतना करना लड़की के 15 साल की उम्र की हो जाने के बाद शुरू होता है, और इसे किसी महिला के द्वारा ही करवाया जाता है।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

दोस्तों के सामने दुल्हन ने रख दी ऐसी शर्त, रह गए दंग!

अपने दोस्त की शादी के लिए हर कोई