निजनी नोवगोरोड स्टेडियम में एक तरफ नाइजीरिया को 2-0 से हराने वाले वाली क्रोएशिया थी तो दूसरी ओर आइसलैंड से 1-1 से ड्रॉ खेलने वाली मेसी की अर्जेंटीना। मैदान में पूर्व अर्जेंटीनी दिग्गज डिएगो मेराडोना थे और सबकी नजरें मेसी पर थीं। सबको लग रहा था कि दुनिया का सबसे बड़ा फुटबॉल सितारा आज कुछ करेगा लेकिन जब मैच खत्म हुआ तो क्रोएशिया के खाते में तीन गोल थे और अर्जेंटीना के खाते में हजारों आंसू।

इस मैच का जब अंत हुआ तो 1998 में एकमात्र बार सेमीफाइनल तक का सफर करने वाली क्रोएशिया ने फीफा विश्व कप के नॉकआउट में जगह बना ली थी जबकि दो बार विश्व कप जीतने वाली और पिछले विश्व कप की उप विजेता अर्जेंटीनी टीम नॉकआउट में पहुंचने की दौड़ से लगभग बाहर हो चुकी थी।

सांसें रोक देने वाला मैच

इस मैच में सबका ध्यान अर्जेंटीना और मेसी पर था लेकिन जब क्रोएशिया ने लय पकड़ी तो सब उनके कायल हो गए। क्रोएशिया के स्ट्राइकर अर्जेंटीनी डिफेंडरों से पहले विपक्षी के गोलपोस्ट में पहुंच रहे थे और उसके डिफेंडर अर्जेंटीनी स्ट्राइकरों से पहले अपने गोलपोस्ट के आगे कवच बन जा रहे थे। यही कारण था कि अर्जेंटीनी टीम एक भी गोल नहीं कर पाई जबकि क्रोएशिया ने एक के बाद एक तीन गोल दाग दिए।

पहले हाफ में दोनों ही टीमों ने गोल नहीं किए लेकिन दूसरे हाफ में दुनिया की 20वें नंबर की टीम क्रोएशिया के तीन अलग-अलग खिलाड़ियों ने पांचवें नंबर की अर्जेंटीनी टीम के खिलाफ गोल दागे। दूसरा गोल खाने के बाद अर्जेंटीनी खिलाड़ी इतने आक्रामक हो गए थे कि बात-बात पर लड़ाई हो रही थी और रेफरी को यलो कार्ड दिखाने पड़े।

फीफा वर्ल्ड कप: दूसरे मैच में नाइजीरिया आइसलैंड होगे आमने-सामने

अर्जेंटीनी कोशिशें बेकार

मैच के चौथे मिनट में क्रोएशिया के पास गोल करने का अच्छा मौका था। इवान पेरिसिच बॉक्स में आए और लक्ष्य पर शॉट लगाया, लेकिन अर्जेंटीना के गोलकीपर विलफ्रेडो कैबलेरो ने बेहतरीन बचाव किया। 10वें मिनट में क्रोएशिया के पास खाता खोलने का एक और मौका था, जब इवान रेटिकिट ने अर्जेंटीना के गोलपोस्ट के दायीं ओर से कप्तान लुका मोड्रिक को खूबसूरत पास दिया, जिसे उन्होंने एंटे रेबिक की ओर मोड़ दिया, लेकिन अर्जेंटीना के डिफेंडर निकोलस टैगलियाफिको ने क्रोएशियाई उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

इसके बाद दोनों टीमों की ओर से खेल कुछ धीमा हुआ। कुछ देर बाद सर्गियो अगुएरो गेंद पर कब्जा कर गेंद को क्रोएशिया के गोलपोस्ट की ओर जाने लगे, तभी उन्होंने मेसी को क्रॉस देने की कोशिश की, लेकिन क्रोएशिया के इवान स्ट्रीनिक ने गेंद की दिशा को बदल डाला। अर्जेंटीना के पास 30वें मिनट में गोल दागने का बेहतरीन मौका था, लेकिन उसने उस मौके को गंवा दिया। एडुआड्रो साल्वियो ने गेंद पर कब्जा किया और फिर पीछे की ओर एंजो पेरेज को गेंद पास की, जो बिल्कुल नेट के पास थे और उस समय नेट लगभग पूरी तरह खाली था।

पेरेज ने शॉट लगाया, लेकिन गेंद गोलपोस्ट के बाहर से निकल गई। 36वें मिनट में दोनों टीमों के खिलाड़ी गेंद को अपने कब्जे में लेने की कोशिश में थे कि तभी रेबिक का घुटना अर्जेंटीना के गेब्रियल मार्सेडो के सीने पर लगा, जिससे वह चोटिल हो गए। पहले हाफ में अर्जेंटीना के स्टार मेसी का जादू देखने को नहीं मिला और इस दौरान कोई भी टीम गोल करने में सफलता हासिल नहीं कर सकी।

क्रोएशिया का जानदार खेल

53वें में रेबिक ने अर्जेंटीना के गोलकीपर कैबलेरो की लापरवाही का फायदा उठाते हुए गोल दागकर क्रोएशिया को 1-0 की बढ़त दिलाई। रेबिक के इस शॉट को गोलकीपर कैबलेरो ठीक से समझ नहीं सके और गेंद उनके ऊपर से होकर गोलपोस्ट में समा गई। 64वें मिनट में अर्जेंटीना के पास बराबरी हासिल करने का शानदार मौका था, लेकिन वह चूक गई। मेसी गोलपोस्ट से कुछ ही इंच दूर थे और लग रहा था कि वह अर्जेंटीना को बराबरी दिला देंगे, लेकिन क्रोएशियाई गोलकीपर डेनियल सुबासिक ने बेहतरीन बचाव किया।

मोड्रिक ने इसके बाद 80वें मिनट में गोल करके अपनी टीम की जीत लगभग पक्की कर दी। दो गोल के बाद पूरी अर्जेंटीनी टीम आक्रामक होकर क्रोएशियाई गोल पोस्ट के पास जमा हो गई जिसका फायदा उठाते हुए क्रोएशियाई खिलाड़ी अर्जेंटीनी गोल पोस्ट के पास आ गए। उस समय इस गोल पोस्ट पर सिर्फ गोलकीपर और एक डिफेंडर थे जिसे धोखा देते हुए इवान रेकेटिक ने इंजुरी टाइम में गोलकर अर्जेंटीनी उम्मीदों को तबाह कर दिया।

अंक तालिका

ग्रुप-डी

टीम, मैच, जीत, हार, ड्रॉ, अंक

क्रोएशिया, 02, 02, 00, 00, 06

आइसलैंड, 01, 00, 00, 01, 01

अर्जेंटीना, 02, 00, 01, 01, 01

नाइजीरिया, 01, 00, 01, 00, 00