विमान हादसे का सामने आया खौफनाक मंजर, 82 लोगों की हुई मौत

पाकिस्तान के कराची में हुए विमान हादसे में कम से कम 82 लोगों की मौत हुई है. लाहौर से कराची जा रही पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) की फ्लाइट रिहायशी इलाके में हादसे का शिकार हुई थी. इस प्लेन में 99 लोग सवार थे. अधिकारियों ने यह जानकारी दी है.

विमान हादसा कराची एयरपोर्ट पर लैंडिंग से ठीक पहले हुआ. कोरोना वायरस के देशव्यापी संकट के बीच हाल ही में पाकिस्तान ने अपने यहां घरेलू उड़ानों पर लगा बैन हटाया था. यह विमान लाहौर से कराची जा रहा था और मालिर में मॉडल कॉलोनी के पास जिन्ना गार्डन इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

फ्लाइट A-320, में 91 यात्री सवार थे, वहीं 8 क्रू मेंबर थे. हादसे के बाद भीषण धुआं उठा, जिसके बाद लोगों को हादसे की जानकारी हुई. हादसे की वजह से कई घरों में आग लग गई. विमान के मलबे आवासीय इलाके में गिरे, जिसके चलते कई लोग घायल भी हो गए.

सिंध के स्वास्थ्य मंत्री अजरा ने शुक्रवार देर रात मीडिया से कहा कि 82 शव साइट से अब तक बरामद कर लिए गए हैं. हालांकि यह अब तक स्पष्ट नहीं हो सका है कि जिन लोगों के शव बरामद हुए हैं, उनमें केवल विमान में सवार लोग थे या रिहायशी इलाके में रह लोग भी हैं.

पाकिस्तान में बंद थीं घरेलू उड़ानें

लॉकडाउन और बढ़ते कोरोना संकट के बीच पाकिस्तान में उड़ानें बंद की गई थीं. बीते सप्ताह शनिवार को ही दोबारा उड़ानें शुरू की गई थीं. पाकिस्तान मीडिया के मुताबिक, विमान के उतरने से ठीक 10 मिनट पहले पायलट ने बताया कि कुछ तकनीकी समस्या है. एयर ट्रैफिक कंट्रोल (ATC) और पायलट के बीच आखिरी बातचीत की रिकॉर्डिंग भी सामने आई है. एयरबस ए320 उड़ा रहे पायलट के आखिरी शब्द जो रिकॉर्ड हुए हैं वो थे कि विमान के इंजन काम नहीं कर रहे हैं.

पाकिस्तान एयरलाइंस के सीईओ अरशद मलिक के मुताबिक हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. उन्होंने बताया कि कराची में लैंडिंग से पहले पायलट ने कहा था कि तकनीकी खराबी आ रही है. उन्होंने बताया गया था कि कराची में दोनों रनवे लैडिंग कराने के लिए तैयार हैं, लेकिन उन्होंने विमान को उड़ाना ही बेहतर समझा. शुक्रवार को हुए इस हादसे में 82 लोगों की मौत हो गई.

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button