कोरोना वायरस के मरीज को किम जोंग ने दिया गोली मारने का आदेश

पूरी दुनिया इस समय कोरोना वायरस की चपेट में है और चीन में तो इस वायरस ने अब तक 2780 लोगों की जान भी ले ली है. लेकिन इस बीच एक देश ऐसा भी है जहां कोरोना वायरस से संक्रमित एक रोगी के मिलने पर उसे इलाज की जगह सरकार ने गोली मार देने का आदेश जारी कर दिया.

जी हां हम बात कर रहे हैं उत्तर कोरिया की. वहां के तानाशाह किम जोंग उन ने अपने देश में कोरोना वायरस का पहला मरीज मिलने के बाद उसे सजा-ए-मौत दे दी. किम ने उस कोरोना वायरस से पीड़ित शख्स को गोली मारने का आदेश दे दिया.

इंटरनेशनल बिजनस टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर कोरिया में कोरोना वायरस का पहला मरीज मिलने के बाद वहां के तानाशाह किम जोंग उन ने देश में उसे फैलने से रोकने के लिए जो कदम उठाया वो बेहद खौफनाक है.

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस ने भारत-चीन के बीच आयात को किया ठप, भारत खोज रहा दूसरा रास्ता…

रिपोर्ट के मुताबिक तानाशाह किम जोंग उन ने चीन से लौटे उत्तर कोरिया के एक कारोबारी को गोली मारने का आदेश दे दिया क्योंकि वो कोरोना वायरस से पीड़ित हो गया था. उस व्यक्ति से कोरोना वायरस दूसरों में न फैले इसलिए उसे इलाज की जगह मार देने का फैसला कर दिया गया.

बता दें कि जिस कारोबारी को गोली मार दी गई वो कुछ दिनों पहले चीन से लौटा था और संक्रमित होने के बाद उसने एक सार्वजनिक टॉयलेट का इस्तेमाल किया था. उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग में वायरस न फैले, इसलिए उसकी हत्या करने का फैसला कर दिया गया. उत्तर कोरिया की तरफ से एक आधिकारिक बयान में बताया गया है कि उसके देश में कोरोना वायरस के एक भी मरीज नहीं पाए गए हैं और हालात से निपटने के लिए उसने पूरी तैयारी कर रखी है.

बता दें कि चीन में बेहद खतरनाक कोरोना वायरस अब तक 2,870 लोगों की जान ले चुका है जबकि इससे संक्रमित कन्फर्म मामलों की संख्या बढ़कर 79,824 हो गई है. चीन में उपजे इस वायरस ने चीन की अर्थव्यवस्था को भी बुरी तरह नुकसान पहुंचाया है.

चीन में कोरोना वायरस को लेकर चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि उन्हें चीन में शनिवार को संक्रमण के 573 नए कन्फर्म मामलों और 35 लोगों की मौत होने की जानकारी मिली. शनिवार रात तक कन्फर्म मामलों की कुल संख्या 79,824 तक पहुंच गई, जिसमें 35,329 मरीज जिनका अभी भी इलाज किया जा रहा था, 41,625 मरीज जिन्हें ठीक होने के बाद अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है और 2,870 लोग जो बीमारी से मर चुके थे, वे भी शामिल हैं.

आयोग ने कहा कि 851 लोगों के अभी भी वायरस से संक्रमित होने का संदेह है. आयोग के मुताबिक 51,856 लोगों को मरीजों के करीबी संपर्क में होने के कारण चिकित्सा निगरानी में रखा गया है. शनिवार को 8,620 लोगों को चिकित्सा निगरानी से छुट्टी दे दी गई.

 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button