यूपी में कोरोना वायरस की दस्तक 6 मरीज भर्ती… 21 को भेजा गया ITBP आइसोलेशन सेंटर

अमेरिका में कोरोना वायरस से अब तक 9 लोगों की मौत हो गई है. कोरोना वायरस के संकट को रोकने के लिए ईरान ने करीब 54 हजार कैदियों को रिहा किया है. जेलों में कैदियों की ज्यादा संख्या को देखते हुए यह कदम उठाया गया है. इन्हें जमानत पर छोड़ा गया है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के आगरा से कोरोनावायरस के 6 नए संदिग्ध मामले सामने आने के बाद लोगों से न घबराने और साथ मिलकर काम करने का आग्रह किया है. मोदी ने ट्वीट कर कहा, “घबराने की जरूरत नहीं है. हमें साथ मिलकर काम करने की जरूरत है. खुद की सुरक्षा के लिए छोटा मगर महत्वपूर्ण कदम उठाएं.”

उन्होंने साथ ही एक पोस्टर ट्वीट किया, जिसमें सामान्य साफ-सफाई के तौर-तरीकों के बारे में बताया गया है, जिसमें लगातार हाथ धोने और आंख, नाक और मुंह को बार-बार छूने से बचने के लिए कहा गया है, ताकि वायरस न फैले. ट्वीट में एक नियंत्रण कक्ष की भी जानकारी दी गई है. इससे पहले दिन में, संसद में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मोदी के बीच स्वास्थ्य के मुद्दे पर चर्चा हुई.
कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को नई ट्रैवल एडवाइजरी जारी की है. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने सभी टीवी चैनलों और एफएम चैनलों से स्वास्थ्य मंत्रालय की इस एडवाइजरी से जुड़ी सूचनाओं का प्रसारण करने की अपील की है. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने स्वास्थ्य मंत्रालय की एडवाइजरी का हवाला देते हुए कहा है कि इटली, ईरानी, दक्षिण कोरिया, जापान के नागरिकों को तीन मार्च या उसके बाद जारी किए गए सभी नियमित वीजा या ई-वीजा को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है.

अगर कोई भारत आने के लिए मजबूर है तो फिर उसे नजदीकी भारतीय दूतावास या वाणिज्य दूतावास से संपर्क कर ताजा वीजा लेना होगा. चीन के नागरिकों को पांच फरवरी या उससे पहले दिए गए सभी वीजा पहले ही निलंबित किए जा चुके हैं. हालांकि सरकार ने यह भी बताया कि कूटनीतिज्ञ, संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के अधिकारियों, ओसीआई कार्डधारकों और संबंधित देशों के विमान चालक दल को इन प्रतिबंधों से छूट दी गई है, लेकिन उनकी मेडिकल स्क्रीनिंग जरूर होगी.

सरकार ने कहा है कि किसी भी बंदरगाह क्षेत्र से भारत में प्रवेश करने वाली सभी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के यात्रियों को अपने बारे में पूरी जानकारी यानी नाम, पता और मोबाइल नंबर आदि ब्यौरा देना होगा. सरकार ने कहा है कि चीन, दक्षिण कोरिया, जापान, ईरान, इटली, हांगकांग, मकाऊ वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया, नेपाल, थाईलैंड, सिंगापुर और ताइवान से प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष रूप से आने वाले यात्रियों को प्रवेश करने पर मेडिकल स्क्रीनिंग से गुजरना होगा. सरकार ने भारतीय नागरिकों को चीन, ईरान, कोरिया गणराज्य, इटली की यात्रा करने से बचने की सलाह दी है.

राजस्थान में एक इटली के पर्यटक में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने मंगलवार को राज्यभर में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश जारी किए. उन्होंने कहा कि मरीज के संपर्क में आए लोगों की जांच की जाएगी. शर्मा ने मेडिकल एजुकेशन और स्वास्थ्य विभाग की रैपिड रिस्पांस टीम को निर्देश दिया कि वह राज्य में रोगी द्वारा दौरा किए गए विभिन्न स्थानों पर जाएं और उन सभी लोगों की स्क्रीनिंग सुनिश्चित करें, जो उसके संपर्क में आए हैं.

इतालवी पर्यटकों का एक 20 सदस्यीय समूह 28 फरवरी को मंडावा, बीकानेर, जैसलमेर, जोधपुर और उदयपुर के रास्ते जयपुर पहुंचा था और समूह में शामिल एक 69 वर्षीय व्यक्ति के बीमार पड़ने के बाद स्थानीय निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उन्हें अगले दिन एसएमएस अस्पताल रेफर किया गया था. कोरोना वायरस के लिए किए गए शुरुआती टेस्ट में इस पर्यटक की रिपोर्ट नकारात्मक आई थी. मगर सोमवार की रिपोर्ट में टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव निकली. इसके बाद पर्यटक के नमूनों को पुणे के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया. इतालवी नागरिक के नमूनों की तीसरी जांच में भी उसे पॉजिटिव पाया गया है.

कोरोना वायरस के खतरे के कारण इटली, जापान, ईरान और साउथ कोरिया के यात्रियों के वीजा पर रोक लगा दी है. भारतीयों को भी इन देशों की यात्रा से बचने की एडवायजरी जारी की गई है.
यूपी सरकार के मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक बारह देशों से घूमकर आए 63 लोग निगरानी में हैं. यूपी के 1570 लोग 28 दिन की निगरानी पूरी कर चुके हैं. जबकि कल कोरोना के लक्षण को देखते हुए 15 लोग अस्पतालों में भर्ती किया गया है. इनमें आगरा के 4 लोगों को दिल्ली के सफदजरजंग अस्पताल, 6 को नोएडा और 5 को बुलंदशह में भर्ती कराया गया. जबकि 6 सैंपल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे गए हैं. ये सभी आगरा से हैं. यूपी से अब तक कुल 131 सैंपल जांच के लिए एनआईवी पुणे भेजे गए जिनमें 109 निगेटिव आए. 22 के नतीजों का इंतजार है.
नोएडा और आगरा में कोरोना वायरस को लेकर हड़कंप मचने के बाद कल यूपी सरकार को मेडिकल बुलेटिन जारी करना पड़ा. सरकार का दावा है कि यूपी में कोरोना का कोई मरीज नहीं है. मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक नोएडा का एक शख्स जर्मन मूल के कोरोना मरीज के संपर्क में आया था. एहतियात के तौर पर उसे दिल्ली के राममनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उसकी स्थिति सामान्य है. जांच रिपोर्ट भी निगेटिव आई है.
चीन से आए कोरोना वायरस को करारी शिकस्त देने के लिए भारत तैयार है. दिल्ली से मुंबई तक, हैदराबाद से लखनऊ तक… पूरे देश के तमाम हवाईअड्डों और बंदरगाहों पर विदेश से आने वाले लोगों की कड़ी स्क्रीनिंग जारी है. ऐसी ही एक स्क्रीनिंग के दौरान लखनऊ के चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट पर सऊदी अरब से आए एक यात्री को शक के आधार पर शहर के लोकबंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक अमिता यादव के मुताबिक मरीज की स्थिति अभी सामान्य है. फिजीशियन की देखरेख में मरीज की मोनिटरिंग की जा रही है. रिपोर्ट आने तक एहतियात बरती जा रही है.
नेपाल के रास्ते चीन, थाईलैंड या अन्य देशों से आने वाले नागरिकों की कड़ी जांच की जा रही है. भारतीय हाट-बाजारों में काफी संख्या में नेपाली नागरिक खरीददारी के लिए आते हैं. इन हाट बाजारों पर भी मेडिकल की टुकडी तैनात की गई है जो सीमापार से आने वालो की गहन जांच कर रही हैं.

बलरामपुर जिले की लगभग 85 किलोमीटर की सामा नेपाल राष्ट्र से जुडी हुई है. सीमावर्ती गांवों के ग्राम प्रधानों को भी कोरोना वायरस को लेकर सतर्क किया गया है और ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देश दिया गया है कि वे गांवों में चौपाल लगाकर लोगों को जागरुक करें और कोई भी संदिग्ध दिखाई पड़े तो तत्काल उसकी सूचना स्वास्थ्य विभाग को दें.

यूपी में कोरोना वायरस की दस्तक के बाद बलरामपुर में नेपाल सीमा पर हाई अलर्ट कर दिया गया है. नेपाल से आने जाने वालो पर कडी निगरानी रखी जा रही है. सीमापार से आने वाले लोगो की विधिवत चेकिंग की जा रही है साथ ही सीमा पर तैनात एसएसबी को भी पूरी तरह अलर्ट कर दिया गया है. सीमा पर तैनात एसएसबी को सतर्क कर दिया गया है. नेपाल से आने वाले लोगो की मेडिकल टीम के द्वारा जाँच कराई जा रही है. नेपाल से आने वाले लोगो की रिपोर्ट भी शासन को भेजी जा रही है. एसएसबी भी पूरी तरह से स्वास्थ्य विभाग की टीम को सहयोग प्रदान कर रही है. नेपाल सीमा से सटे सभी चार विकास खण्डो में मेडिकल टीम और एम्बुलेंस लगाई गई है जो सिर्फ संदिग्ध लोगों को लेकर कोरोना वायरस के लिए बनाए गए आइसोलेशन वार्ड तक पहुंचेगी.
स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कोरोना वायरस को लेकर समिक्षा बैठक बुलाई है. इसके बाद वो प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. आगरा के 6 मरीजों में कोरोना वायरस संदिग्ध होने की जानकारी सामने आई है. जिला अस्‍पताल में सोमवार को 13 लोगों की जांच हुई थी जिसके बाद जांच के सेंपल लखनऊ भेजे गए थे. आगरा के दो कारोबारी भाई दिल्‍ली के एक रिश्‍तेदार परिवार के साथ इटली गए थे.  25 फरवरी को उनके परिवार सहित वापस वापस लौटने के बाद दिल्‍ली में परिवार के एक सदस्‍य को सर्दी-जुकाम हुआ. शक होने पर जांच कराई तो कोरोना वायरस से संक्रमित होने का डॉक्टर को पता चला.

ये बात जब आगरा निवासी परिवार को पता चली तो वे भी जिला अस्‍पताल में जांच के लिए पहुंचे जहां रैपिड रिस्पोंस टीम ने 13 लोगों की स्क्रीनिंग की और इन सभी के सेंपल जांच के लिए लखनऊ भेजे. मंगलवार को आई रिपोर्ट में 13 लोगों में से 6 लोगों की रिपोर्ट हाइली सस्पेक्टेड निकली. स्थानीय मेडिकल प्रशासन ने तत्परता दिखाते हुए दो लोगों को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर लिया है और अन्य सदस्यों की उनके घर में ही निगरानी की जा रही है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लखनऊ भेजे गए सैंपल्स को पुणे की लेबोरेट्री में जांच के लिए भेज दिया गया है और जांच रिपोर्ट आने के बाद ही यह तय हो सकेगा की मरीज कोरोना से संक्रमित हैं या नहीं?.

कोरोना की दहशत के चलते दिल्ली एनसीआर में मास्क की मांग बढ़ी गई है. मेडिकल स्टोर्स पर भारी भीड़ देखी जा सकती है. विदेश से आने वाले हर एक शख्स पर नजर रखी जा रही है. सभी अंरर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग जारी है. कोरोना के खतरे के चलते बलरामपुर में नेपाल बॉर्डर पर निगरानी सख्त कर दी गई है. सीमापार आने-जाने वालों की जांच की जा रही है.
इटली से लौटे दिल्ली के कारोबारी में कोरोना की पुष्टि के बाद नोएडा के स्कूल में हड़कंप मच गया है. संक्रमित कारोबारी के बच्चे इसी स्कूल में पढ़ते हैं. इटली से लौटे कारोबारी के 6 रिश्तदारों के सैंपल भी लिए गए हैं. पुणे से फाइनल रिपोर्ट आने का इंतजार है. इसके अलावा इटली से आए 21 पर्यटकों को भी दिल्ली में ITBP के आइसोलेशन सेंटर में रखा गया है. इस ग्रुप के एक सदस्य में कोरोना के लक्षण मिले थे.
Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button