कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक 30 नवंबर तक बढ़ी, जारी रहेंगी कार्गो व विशेष सेवाएं

नई दिल्ली। भारत में कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की आवाजाही पर रोक 30 नवंबर तक बढ़ा दी गई है. हालांकि, कार्गो ऑपरेशन और कुछ देशों को एयर ट्रैवल बबल एग्रीमेंट के तहत जाने वाली खास उड़ानें जारी रहेंगी.

कॉमर्शियल इंटरनेशनल फ्लाइट पर रोक

नागर विमानन निदेशालय (DGCA) ने 27 अक्टूबर के एक आदेश में सभी कॉमर्शियल इंटरनेशनल फ्लाइट पर रोक को 30 नवंबर, 2020 तक आगे बढ़ा दिया. यूरोप में कोरोना वायरस संक्रमण के केस फिर बढ़ने लगे हैं. शायद इसे देखते हुए ही यह निर्णय लिया गया है.

कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक

क्या कहा DGCA ने

डीजीसीए ने अपने एक नोटिफिकेशन में कहा है कि 26 जून के सर्कुलर में थोड़ा बदलाव करते हुए सक्षम प्राधिकारी द्वारा इस सर्कुलर की वैधता को 30 नवंबर 2020 की रात 11.59 तक आगे बढ़ाया जा रहा है, जो शेड्यूल्ड अंतरराष्ट्रीय कॉमर्शियल यात्री उड़ानों के बारे में है.’

23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध

आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी के कारण भारत ने 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों पर प्रतिबंध लगा रखा है. इसके साथ ही घरेलू विमान सेवाओं को भी बंद कर दिया गया था. लेकिन बीते 25 मई से घरेलू उड़ानें शुरू कर दी गई हैं. इस उड़ान सेवाओं के लिए कोरोना से जुड़ी डिटेल गाइडलाइंस भी जारी की गई थी.

वंदे भारत मिशन

मई से वंदे भारत मिशन और जुलाई से चुनिंदा देशों के साथ किए गए विशेष समझौते के तहत अंतरराष्ट्रीय उड़ान का संचालन किया जा रहा है. विदेश में फंसे भारतीयों को वापस स्वदेश लाने के लिए सरकार ने कई एजेंसियों के सहयोग से वंदे भारत मिशन की शुरुआत की थी. वंदे भारत मिशन के तहत अमेरिका, ब्रिटेन, सिंगापुर, संयुक्त अरब अमीरात, सऊदी अरब, मलेशिया, कुवैत के साथ ही बांग्लादेश और मालदीव से अब तक लाखों लोगों को भारत वापस लाया जा चुका है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button