सीएम योगी ने पुलिस को दिए निर्देश कहा- किसानों से मिलें तो ‘राम-राम’ और अपराधियों का ‘राम नाम सत्य है’

मेरठ: यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ अपने बयानों और फैसलों को लेकर हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। किसान आंदोलन के बीच मुख्यमंत्री का ‘राम-राम’ और ‘राम नाम सत्य है’ का बयान खूब वायरल हो रहा है। दरअसल, मेरठ में रविवार को रैली को संबोधित करते हुए योगी ने कहा था कि’ पश्चिम यूपी के किसानों के साथ अन्याय नहीं होगा। हमने पुलिस को निर्देश दिया है कि हम किसान भाइयों से मिलें तो हमारा संबोधन ‘राम राम’ होना चाहिए और हमारी बहन-बेटियों की सुरक्षा में सेंध लगाने वाले दुराचारियों व अपराधियों की, ‘राम नाम सत्य है’ की यात्रा निकलनी चाहिए।’

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी ने मेरठ के सरदार वल्लभभाई पटेल कृषि विश्वविद्यालय में स्थित केंद्रीय पुस्तकालय और कृषि मेले का उद्घाटन करने के लिए पहुंचे थे। जहां उन्होंने 325 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इस दौरान उन्होंने ने कहा, ‘प्रधानमंत्री जी ने ‘किसान सम्मान निधि योजना’ का शुभारंभ किया।

यूपी में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर हाईकोर्ट ने कहा, हर दो किमी. पर तैनात हों दो कॉन्स्टेबल

विपक्ष कहता था कि चुनावी शिगूफा है, लोग कहते थे कि कोरोना कालखण्ड में यह रुक जाएगी। प्रधानमंत्री जी ने कहा कि मंत्री, सांसद, विधायक का वेतन रुकेगा लेकिन किसान की किसान सम्मान निधि नहीं रुकेगी।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी कहा है कि, किसान अन्नदाता है। अपनी फसल और उपज का मालिक भी है। वही तय करेगा कि उसे अपनी फसल को कहां बेचना है। उस पर कोई टैक्स न मण्डी के अंदर न बाहर, कहीं नहीं लगना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा, ‘किसान भाइयों के कंधे पर बंदूक रखकर भारत की एकता और अखंडता को चुनौती दी जा रही है, देश की सुरक्षा में सेंध लगाने का कार्य किया जा रहा है, यह कतई स्वीकार्य नहीं होगा। समाधान संवाद से होगा, संघर्ष से नहीं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button