Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > CM योगी ने बुदेलखंड की धरती को प्यासरहित बनाने के लिए बनायी ये कार्ययोजना

CM योगी ने बुदेलखंड की धरती को प्यासरहित बनाने के लिए बनायी ये कार्ययोजना

उरई। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने शुक्रवार को कहा कि बुंदेलखंड में डिफेंस मैन्यूफैक्चरिंग कॉरीडोर की स्थापना की जाएगी। इससे यहां के ढाई लाख युवाओं को नौकरी मिलेगी। बुंदेलखंड की धरती को प्यासा नहीं रहने दिया जाएगा, इसके लिए ठोस कार्ययोजना तैयार की जा रही है। यहां पर पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। पचनदा में दो नहीं पांच नदियों का संगम होता है, फिर संगम की तरह इसका विकास क्यों नहीं हो सकता। इसके जरिए पर्यटन के क्षेत्र में पचनदा का विकास कर आगे बढ़ाया जाएगा।CM योगी ने बुदेलखंड की धरती को प्यासरहित बनाने के लिए बनायी ये कार्ययोजना

आज तीन सौ करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण किया है, इसका लाभ अंतिम पंक्ति के लोगों को मिलेगा। वह जालौन जिले के मुख्यालय उरई में राजकीय इंटर कालेज परिसर में आयोजित लोक कल्याण मेला, लाभार्थी सम्मेलन व परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे।

बुंदेलखंड के हमीरपुर व जालौन जिले की समीक्षा बैठक के लिए सुबह लगभग 10.25 बजे हेलीकाप्टर से पुलिस लाइन मैदान पहुंचे। जहां जनप्रतिनिधयों व अधिकारियों ने स्वागत किया। सलामी के बाद सीधे जनसभा स्थल पहुंचे। यहां पर लगभग तीन सौ करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करने के बाद विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किए।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान बुंदेलखंड की दुखती रग पर हाथ रखा और किसानों के साथ ही बेरोजगार युवाओं में नई आशा का संचार किया। युवाओं को साधते हुए उन्होंने कहा कि यूपी इंवेस्टर्स समिटि का ही परिणाम है कि प्रधानमंत्री ने प्रदेश के विकास को गति देने के लिए डिफेंस मैन्यूफैक्टरिंग कॉरीडोर की स्थापना को कहा है। इसका केन्द्र बिन्दु बुंदेलखंड रहेगा। यहां पर देश की रक्षा से जुड़े उत्पाद तैयार किए जाएंगे, इससे ढाई लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। जल्द ही चार लाख नौकरियों का सृजन किया जा रहा है। पुलिस, शिक्षा और विभिन्न विभागों में नौकरियां निकाली जा रही हैं। सभी की प्रक्रिया पारदर्शी रहेगी, कोई भी प्रतिभाशाली नौजवान खाली हाथ नहीं रहेगा। जल्द ही 12 हजार शिक्षकों को नियुक्ति पत्र देने जा रहे हैं।

कृषि प्रधान बुंलदेलखंड की सबसे बड़ी समस्या अन्ना प्रथा के लिए जल्द ठोस कार्ययोजना धरातल पर उतारने की बात कहते हुए कहा कि कई जनपदों में इस समस्या का समाधान कर दिया गया है। इसमें आमजनमानस की सहभागिता हो तो यह समस्या जल्द खत्म की जा सकती है। ललितपुर का उदाहरण देते हुए कहा कि वहां पर आपसी सहयोग से गौशाला खोली गई है, जिसमें पांच हजार मवेशी रखने की क्षमता है। यह कार्य यहां पर क्यों नहीं हो सकता है। सरकार आपके द्वार पर है, बस आप एक कदम आगे बढ़ाएं, सरकार दस कदम चलेगी। विकास कार्यों में कहीं लापरवाही हो रही हो तो जनप्रतिनिधियों को बताएं, शासन-प्रशासन तक बात पहुंचाएं, त्वरित कार्रवाई होगी। अब किसी को भी विकास कार्यों में डकैती नहीं डालने दी जाएगी।

गांवों में पाइप लाइन से पहुंचेगा पानी

उन्होंने कहा कि यहां की सबसे बड़ी समस्या जलसंकट है। इसे जल्द दूर कर दिया जाएगा। ठोस कार्ययोजना बनाकर गांव-गांव तक शुद्ध पानी पहुंचाया जाएगा। जल्द ही पाइप पेयजल योजना धरातल पर उतारी जाएगी। सरकार का एक साल हुआ है। पहले लोग बिजली के लिए तरसते थे। आज जिला मुख्यालयों में 24 घंटे तो ग्रामीण क्षेत्रों में बीस घंटे बिजली दी जा रही है। ऋण मोचन योजना से छूटे किसानों के लिए भी आदेश जारी कर दिए गए हैं।

एक्सप्रेस वे से जुड़ेगा जालौन

उन्होंने कहा कि जल्द ही जालौन एक्सप्रेस वे से जुड़ जाएगा। आगरा के पास से चित्रकूट वाया जालौन होते हुए इसे जोड़ेंगे। आवागमन के साधन बढ़ेगे तो यहां कल-कारखाने भी लगेंगे। रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

एक जिला एक उत्पाद से मिलेगी पहचान जालौन को एक जिला एक उत्पाद से अलग पहचान मिलेगी। कालपी के मरणासन्न हाथ कागज उद्योग को शामिल किया गया है। इसकी सभी समस्याएं दूर कर इसको आगे बढ़ाया जाएगा। कैसे इस कला का संरक्षण किया जा सकता है, उसकी कार्ययोजना के तहत इस उद्योग को ऊचाइयों पर ले जाया जाएगा। इसके लिए कामन ट्रीटमेंट प्लांट की भी स्थापना की जाएगी।

रानी लक्ष्मी बाई और आल्हा ऊदल की धरती को नमन करते उन्होंने कहा बुंदेलखंड का विकास द्रुत गति से किया जाएगा। भाजपा सरकार के लिए कोई जिला वीआइपी नहीं है, बल्कि सरकार 22 करोड़ लोगों के लिए काम कर रही है। इसके बाद मुख्यमंत्री काफिले के साथ मेडिकल कालेज के निरीक्षण के लिए रवाना हो गए। इस मौके पर संचाई मंत्री धर्मपाल सिंर, परिवहन मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह, कारागार मंत्री जयकुमार जैकी व महेन्द्र सिंह के अलावा सांसद व ​विधायक मौजूद रहे। 

Loading...

Check Also

टला बड़ा रेल हादसाः रेल पटरी के चटकने से कानपुर-लखनऊ रूट हुआ प्रभावित

टला बड़ा रेल हादसाः रेल पटरी के चटकने से कानपुर-लखनऊ रूट हुआ प्रभावित

यूपी के उन्नाव जिले में एक बार फिर उन्नाव-सोनिक के मध्य रविवार देर रात रेल पटरी के चटकने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com