UP वापस आए प्रवासी श्रमिकों को लेकर सीएम योगी ने किया बड़ा ऐलान…

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को ऐलान किया है कि लॉकडाउन के दौरान दूसरो राज्यों से उत्तर प्रदेश में अपने घर वापस आने वाले कामगारों, श्रमिकों की स्किल मैपिंगकर सरकार ने पहली सूची तैयार कर ली है. सभी को रोजगार देने के लिए कामगार/श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग गठित किया जा रहा है. वैसे मंगलवार के ट्वीट में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अपने उस निर्देश का जिक्र नहीं किया है, जो उन्होंने सोमवार को हुई टीम-11 की बैठक में किया था. उन्होंने कहा था कि कोई भी राज्य सरकार बिना अनुमति के उत्तर प्रदेश के श्रमिकों/कामगारों का उपयोग नहीं कर पाएगी.



मुख्यमंत्री ने टीम-11 के साथ बैठक में निर्देश दिए थे कि जो मैन पावर तैयार किए जा रहे हैं, उन्हें अन्य राज्यों में सोशल सिक्योरिटी की गारंटी पर ही अब मुहैया कराया जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि देश और दुनिया के हर कोने में अपने कामगारों व श्रमिकों के साथ सरकार हर मौके पर खड़ी रहेगी. योगी सरकार हर कामगार और श्रमिक को बीमा की सुरक्षा देने की भी तैयारी में है. प्रदेश में एक जनपद के कामगार व श्रमिक को दूसरे जनपद में रोजगार मिलने पर सरकार आवासीय व्यवस्था भी मुहैया कराएगी.

योगी आदित्यनाथ के आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया गया है, ‘घर वापस आने वाले कामगार/श्रमिक बहनों-भाइयों की ‘स्किल मैंपिंग’ कर पहली सूची तैयार कर ली गई है. सभी जनों को अब प्रदेश में ही रोजगार मुहैया कराने लिए ‘कामगार/श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग’ के गठन की तैयारी शुरू कर दी गयी है. अब इनका हुनर, दक्षता व मेहनत जन्मभूमि को अभिसिंचित करेगी.’

15 लाख कामगारों की स्किल मैपिंग का काम पूरा
बता दें कि यूपी लौटे 25 लाख से ज्यादा कामगारों (Migrant Workers) को उनके गृह जनपद में ही रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए योगी सरकार बड़ी तेजी से काम कर रही है. करीब 15 लाख कामगारों की स्किल मैपिंग का काम पूरा करवा लिया गया है. इनकी ट्रेनिंग करवाकर, इन्हें रोजगार दिया जाएगा. ट्रेनिंग के दौरान इन्हें ट्रेनिंग भत्ता भी दिया जाएगा. सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपनी टीम 11 के साथ हुई बैठक में इसकी जानकारी अफसरों ने दी.

कामगार, श्रमिक कल्याण आयोग का हो रहा गठन
इसी क्रम में कामगार/श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग युद्धस्तर पर तैयारियों में जुटा है. अब तक 14.75 लाख कामगारों व श्रमिकों की स्किल मैपिंग का काम पूरा हो चुका है. बाकी बचे कामगारों के स्किल मैपिंग का काम तेजी से जारी है.

फर्नीचर एवं फिटिंग के 26989 टेक्निशियन, 1274 ब्यूटीशियन
दरअसल, टीम-11 की बैठक में कामगार/श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) कल्याण आयोग के गठन व कामगारों व श्रमिकों को प्रदेश में ही रोजगार मुहैया कराने की योजना का रोडमैप स्किल मैपिंग के जरिए की जा रही है. अब तक हुई स्किल मैपिंग में 1,51,492 कामगार रीयल स्टेट डेवलपर, फर्नीचर एवं फिटिंग के 26989 टेक्निशियन, बिल्डिंग डेकोरेटर 26041, होम केयरटेकरों की संख्या 12633, ड्राइवर 10,000, आईटी एवं इलेक्ट्रानिक्स के 4680 टेक्कनिशियन, होम एप्लांयस टेक्न्नीशियन 5884, आटोमोबाइल टेक्निशियन की संख्या 1558, पैरामेडिकल एवं फार्माक्यूटिकल 596, ड्रेस मेकर 12103, ब्यूटिशियन 1274, हैंडिक्राफ्ट एंड कारपेट्स मेकर 1294 और 3336 सिक्योरिटी गार्डस की स्किल मैपिंग हो चुकी है. इसके अलावा अन्य सभी कामगारों/श्रमिकों को प्रदेश में ही रोजगार के साथ-साथ सामाजिक सुरक्षा की गारंटी देने की तैयारी है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button