चीन की बड़ी साजिश हुई नाकाम, भारत ने किया नाकम, खुद के जाल में फांसा ड्रैगन

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव लगातार बढ़ता ही जा रहा है। दोनों देशों की तरफ से कई दौर की वार्ताएं भी हुई लेकिन सीमा विवाद का कोई हल नहीं निकल सका। नतीजतन दोनों देशों की सेनाएं एक दूसरे के खिलाफ हथियार लेकर आमने-सामने डटी हुई है। सीमा पर आज युद्ध जैसे हालात बने हुए हैं। इस बीच एक बार फिर से युद्धाभ्यास की तस्वीरें और वीडियो को शेयर करके मनोवैज्ञानिक दबाव बनाने की कोशिश करने वाले चीन के दुष्प्रचार की पोल खुल गई है।

जिसके बाद दुनिया भर में चीन की जमकर फजीहत हो रही है। चीन का सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने तिब्बत के इलाके में 4700 मीटर की ऊंचाई पर चीनी सेना के युद्धाभ्यास की तस्वीरें शेयर करके खुद ही बुरी तरह से फंस गया है। अब चीनी सेना की ये तस्वीरें सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो रही हैं। सोशल मीडिया पर दुनिया भर के लोग चीन को खूब बुरा भला भी कह रहे हैं। इस वीडियो की पड़ताल करने पर ये पाया गया है कि चीन के सरकारी टीवी चैनल सीसीटीवी ने जो फोटोज शेयर की हैं, उसके अंदर असल में चीनी सैनिक केवल फोटो खिंचाने के लिए निशाना साध रहे थे।

चीन की बड़ी साजिश हुई नाकाम

वीडियो को गौर से देखने पर मालूम पड़ता है कि चीनी सैनिक गोली चलाने के लिए निशाना साध रहे हैं। इसमें सैनिक राइफल में लगे पेरिस्कोप से देखकर निशाना साध रहे हैं। इसी तस्वीर को खींचने में चीनी दुष्प्रचार तंत्र से बड़ी गलती हो गई। चीन की इस पूरी साजिश की पोल OSINT विशेषज्ञ कर्नल विनायक भट्ट ने खोलकर रख दी है। चीन की तरफ से युद्ध अभ्यास पर दावा किया गया कि चीनी सैनिक 4700 मीटर की ऊंचाई पर निशाना साध रहे हैं।

वीडियो को देखने पर ये पाया गया कि चीनी सैनिक जिस समय निशाना साध रहे थे, उस समय उनके पेरिस्कोप में लगा रबर का अगला हिस्सा झुका हुआ था। ऐसे में चीनी सैनिक बिना पेरिस्कोप के निशाना साध रहे थे और दावा कर रहे थे कि वे असल में निशाना लगा रहे हैं। रबर के हिस्से के झुके होने की वजह से चीनी सैनिकों का सटीक निशाना लगाना संभव ही नहीं था।

बता दें कि अब सोशल मीडिया में चीन की जमकर फजीहत है। लोगों को ये बात मालूम है कि युद्ध में अपने शत्रु देश को धोखा देने के लिए दुनिया के कई देश नकली हथियार तैनात करते हैं। दरअसल, चीन की सेना पीएलए ने जिस गुब्बाेरे को रॉकेट लॉन्चर की शक्ल दिया था, वह एक जगह से पिचका हुआ था। चीन के दुष्प्रचार तंत्र को जब यह अहसास हुआ तो उसने इस फोटो को डिलीट कर दिया।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button