चीन ने बनाई ‘स्वर्ग की आंखें, अब ऐसे करेंगे साइंटिस्ट्स अंतरिक्ष की निगरानी…

अंतरिक्ष में एलियंस, एस्टेरॉयड्स और मेटियोर्स की खबर देने वाले आर्सिबो टेलीस्कोप के टूटने के बाद अब चीन ने दुनिया के लिए नया टेलीस्कोप बनाया है. चीन के इस बड़े टेलीस्कोप से दुनिया भर के साइंटिस्ट्स एलियन दुनिया और धरती की ओर आ रहे एस्टेरॉयड्स के बारे में जान सकेंगे. आइए जानते हैं कि चीन इतना बड़ा टेलीस्कोप कहां और कैसे बनाया है?

नेशनल एस्ट्रोनॉमिकल ऑब्जरवेट्रीस ऑफ चाइना (National Astronomical Observatories of China – NAOC) ने कहा है कि वह अपने इस विशालकाय टेलीस्कोप का 10 फीसदी ऑब्जरवेशन समय दुनिया के अन्य साइंटिस्ट्स के लिए देगा. इस टेलीस्कोप से अंतरिक्ष की निगरानी करने का टाइमटेबल इस साल 1 अगस्त तक जारी किया जाएगा. इसके बाद दुनियाभर के साइंटिस्ट इस टेलीस्कोप का उपयोग कर सकेंगे. 

इस टेलीस्कोप का नाम है फाइव हंड्रेड मीटर अपर्चर स्फेरिकल टेलीस्कोप (Five Hundred Meter Aperture Spherical Telescope – FAST). यह टेलीस्कोप दक्षिण-पश्चिम चीन के गुईझोउ प्रांत के पिंगतांग इलाके की पहाड़ियों के बीच में बनाया गया है. इसे तियानयान (Tianyan) या स्वर्ग की आंखें (Eye of Heaven) भी नाम दिया गया है.

पिंगतांग इलाके में स्थित गांव वालों को दूसरी जगह पर विस्थापित कर दिया गया है. ताकि टेलीस्कोप के इलेक्ट्रोमैग्नेटिक किरणों से उन्हें कोई नुकसान न हो. FAST टेलीस्कोप 500 मीटर व्यास का एक गोलाकार डिश एंटीना है. इसे बनाने के लिए 4450 त्रिकोण पैनल्स का उपयोग किया गया है. इसके अलावा इसमें 2000 मैकेनिकल विंचेस यानी चरखियां लगी हैं जो इस रेडियो टेलीस्कोप को अलग-अलग दिशा में घुमाने में मदद करती हैं.

आर्सिबो टेलीस्कोप अंतरिक्ष में देखने के लिए सिर्फ 20 डिग्री तक ही घूम सकता था लेकिन FAST टेलीस्कोप 40 डिग्री तक घूमने में सक्षम है. NAOC के साइंटिस्ट्स ने कहा है कि इस टेलीस्कोप का उपयोग सिर्फ सुदूर अंतरिक्ष के ग्रहों, एलियन जीवन की खोज और अत्यधिक दूरी से आ रहे एस्टेरॉयड्स की जानकारी देगा. ये नीयर अर्थ ऑबजेक्ट्स की जानकारी नहीं देगा.

FAST रेडियो टेलिस्कोप आर्सिबो टेलिस्कोप से 2.5 गुना ज्यादा संवेदनशील है. यानी ये अंतरिक्ष से आने वाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक और रेडियो तरंगों को ज्यादा बारीकी से पकड़ सकता है. FAST रेडियो टेलिस्कोप के पास किरणों को कैच करने का क्षेत्रफल 71 हजार वर्ग मीटर है. जबकि, आर्सिबो टेलिस्कोप के पास ये क्षेत्रफल सिर्फ 50 हजार वर्ग मीटर था.

FAST के चीफ इंस्पेक्टर वांग किमिंग ने बताया कि उन्होंने प्यूर्टो रिको स्थित आर्सिबो टेलीस्कोप की यात्रा की थी, जिसके बाद उन्होंने चीन में उससे बड़ा रेडियो टेलीस्कोप बनाने का प्रस्ताव रखा. सरकार ने ये प्रस्ताव स्वीकर कर लिया गया. हमने आर्सिबो टेलीस्कोप से बहुत कुछ सीखा उसके बाद उसकी खामियों को दूर करते हुए अपना टेलीस्कोप तैयार करना शुरू किया.

FAST टेलीस्कोप साल 2016 में बनना शुरू हुआ था, जो 11 जनवरी 2020 को पूरा हो गया. अब यह आधिकारिक तौर पर अंतरिक्ष में झांकने के लिए तैयार है. इस रेडियो टेलीस्कोप में 19 बीम रिसीवर हैं. इसे बनाने में ऑस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने भी मदद की है. इस टेलीस्कोप की मदद से अंतरिक्ष, आकाशगंगा और हमारे सौर मंडल की उत्पत्ति का भी पता लगाया जाएगा

ट्रायल रन के दौरान FAST टेलीस्कोप ने पिछले साल 1 जनवरी तक अंतरिक्ष से 121 सिग्नल पकड़े हैं. अगर चीन दुनिया के वैज्ञानिकों को इस टेलीस्कोप के उपयोग की अनुमति देगा तो इसका फायदा पूरी दुनिया को होगा. फिलहाल चीन इस प्रोजेक्ट में अमेरिका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया की मदद ले रहा है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button