छा गए गुरू: ‘नवजोत सिंह सिद्धू ऑफिशियल’ नाम के साथ सिद्धू टिकटॉक की दुनिया में भी आ गए

जित्तेगा पंजाब’ यूट्यूब चैनल शुरू करने के बाद अब ‘नवजोत सिंह सिद्धू ऑफिशियल’ नाम के साथ सिद्धू टिकटॉक की दुनिया में भी आ गए हैं। टिकटॉक पर बनाए अपने ऑफिशियल हैंडल की शुरुआत सिद्धू ने अपने चिरपरिचित अंदाज शेरो शायरी से की। पंजाब की राजनीतिक सरगर्मियों से दूर नवजोत सिद्धू अपने समर्थकों से सोशल मीडिया से जुड़ने का प्रयास कर रहे हैं।

जित्तेगा पंजाब में सिद्धू ने अब तक पांच वीडियो अपलोड की हैं और एक आर्टिकल लिखा है। अभी तक सिद्धू ने किसी समर्थक का न ही कोई आर्टिकल प्रकाशित किया, न ही किसी विषय पर कोई डिबेट हुई, जिससे प्रदेश की जनता को इस बात का संकेत मिलता रहे कि सिद्धू प्रदेश की समस्याओं के हल के लिए कौन-सा दृष्टिकोण रखते हैं।

यह भी पढ़ें: नवजोत सिद्धू ने पंजाब सरकार की कार्यप्रणाली को कटघरे में खड़ा किया, बोले- लोक लहर की जरूरत
अभी तक सिद्धू ने जित्तेगा पंजाब चैनल से जारी वीडियो में कैप्टन अमरिंदर सिंह को खुली चुनौती देते हुए उनकी कार्यप्रणाली को ही कटघरे में खड़ा किया है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

दूसरी तरफ सिद्धू के विरुद्ध कांग्रेस से बागी होकर विधानसभा हलका पूर्वी से आजाद चुनाव लड़ने वाले मनदीप सिंह मन्ना प्रतिदिन वीडियो जारी करबग नवजोत सिद्धू द्वारा लॉकडाउन के दौरान बांटे राशन पर सवाल उठाने के साथ-साथ कई आरोप लगा रहे हैं।

मन्ना सिद्धू को सोशल मीडिया में खुली चुनौती दे रहे, लेकिन सिद्धू ने उनके द्वारा लगाए आरोपों का कोई उत्तर नहीं दिया। सिद्दू ने अपने समर्थकों से उनके इस ऑफिशियल हैंडल के साथ जुड़ने के लिए कहा है।

पूर्व मंत्री नवजोत सिद्धू ने मार्च महीने में एक नया ट्विटर हैंडल ‘जित्तेगा पंजाब एनएस’ शुरू किया था। सिद्धू ने पहले ट्वीट में अफगानिस्तान के काबुल शहर के ऐतिहासिक गुरुद्वारा साहिबान में हुए आतंकी हमले की निंदा करते हुए लिखा है कि अन्याय करना पाप है और अन्याय सहना उससे भी बड़ा पाप है।

दूसरे टवीट में सिद्धू ने लिखा है कि सिख पूरी दुनिया में भाईचारे के साथ रहते हैं। सिख धर्म सार्वभौमिक भाईचारे, सहिष्णुता और करुणा के लिए खड़ा है।

हम अत्याचार से लड़ते हैं। यह हमला हमारे मूल्यों को हिला नहीं सकता। सिद्धू ने दावा किया कि वह इस ट्विटर हैंडल के माध्यम से पंजाब के ज्वलंत मुद्दों पर लोगों के साथ चर्चा करेंगे।

सिद्धू ने कहा कि लोगों के साथ बातचीत करने के लिए एक प्लेटफॉर्म की जरूरत थी। ट्विटर हैंडल शुरू करने से यह काम पूरा हो गया है।

सिद्धू ने एक बार फिर श्री गुरु नानक देव जी के रास्ते पर चलने का वादा करते हुए कहा कि बाबा नानक ने राजनीतिक, धार्मिक और सामाजिक संदेश दिए। उन्होंने वंड छको और सिमरन करो का संदेश दिया। यही पंजाबियों की पहचान है।

सिद्धू ने नाम लिए बगैर कैप्टन अमरिंदर से पूछा कि क्या पंजाब के हित में कोई फैसले लिए जा रहे हैं। एक फीसदी बड़े लोगों के हित की चिंता की जा रही है या 99 फीसदी आम लोगों की, यह सोचने वाली बात है।

पंजाब का किसान मेहनती था, आज कर्ज में डूबा है। पंजाब का नौजवान फौज में भर्ती होकर देश की सेवा करता था। आज नौजवान पलायन कर विदेश जा रहे हैं। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button