कैप्टन मंत्रिमंडल में शामिल होंगे छह और मंत्री

चंडीगढ़। राहुल गांधी व कैप्टन दरबार में चक्कर लगा रहे कांग्रेसी विधायकों में से सिर्फ 6 को ही मंत्री बनाने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि, कैप्टन दरबार में 9 मंत्रियों के ओहदे खाली पड़े हैं। सूत्रों के अनुसार मंत्रिमंडल विस्तार पंजाब कांग्रेस के सीनियर नेताओं की आपसी खींचतान के कारण रुका हुआ है। यह खींचतान कैप्टन, बाजवा, भट्ठल और राहुल की युवा ब्रिगेड के धड़ों में चल रही है। कैप्टन मंत्रिमंडल में शामिल होंगे छह और मंत्री

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अपने चहेतों को अपने दरबार में शामिल करना चाहते हैं, जबकि राज्यसभा सदस्य प्रताप सिंह बाजवा व वरिष्ठ नेता राजिंदर कौर भट्ठल अपने खेमे के विधायकों के लिए जोर आजमाइश करने में लगे हैं। उधर, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पंजाब मंत्रिमंडल में मिशन 2019 के अंतर्गत नौजवानों को आगे लाने की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक अब तक मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की तरफ से हाईकमान के पास नए बनाए जाने वाले मंत्रियों के लिए सौंपी 3 सूचियों को इस कारण ठंडे बस्ते में रखा गया था, क्योंकि कैप्टन की सिफारिशों के साथ कोई भी धड़ा और राहुल गांधी सहमत नहीं थे। अब तक कैप्टन और राहुल गांधी के बीच नए मंत्री बनाने के लिए हुई बैठकें भी इसी कारण बेनतीजा रही थीं। पिछले दिनों राहुल गांधी के साथ कैप्टन अमरिंदर सिंह की दिल्ली में हुई गुप्त मीटिंग के बारे में किसी को भी पता नहीं चलने दिया गया, जिससे यह मामला और पेचीदा हो गया है।

राहुल-कैप्टन की मुलाकात 15 को

मंत्रिमंडल का विस्तार अप्रैल के आखिरी हफ्ते या मई के पहले हफ्ते में होगा। इस संबंध राहुल गांधी और कैप्टन अमरिंदर सिंह की मुलाकात 15 अप्रैल में होगी। इसमें 6 विधायकों के नाम पर मुहर लगेगी। कैप्टन के साथ मीटिंग से पहले राहुल गांधी बाजवा, भट्ठल और अपनी यूथ ब्रिगेड के सदस्यों की एक साझा मीटिंग बुला सकते हैं।

पंजाब कांग्रेस के प्रधान सुनील जाखड़ का कहना है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री दिल्ली गए थे, लेकिन उनकी राहुल गांधी से मुलाकात हुई या न हुई इस बारे में उन्हें जानकारी नहीं है। जाखड़ ने कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार अप्रैल के आखिरी हफ्ते तक होने की संभावना है। राहुल गांधी के साथ 15 अप्रैल को होने वाली मीटिंग के बारे में उन्होंने कहा कि अभी उन्हें कोई संदेश नहीं मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

CM योगी का तीखा वार: कहा- अखिलेश की हालत ‘मान ना मान, मैं तेरा मेहमान’ वाली

उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भाजपा ने सपा प्रमुख