बीच-बचाव करने आए युवक को लगी गोली, मौत

- in अपराध

साउथ दिल्ली के महरौली इलाके में बीती रात तब सनसनी फैल गई, जब मामूली विवाद में एक युवक को उसके पिता के सामने ही गोली मारकर हत्या कर दी गई. पुलिस ने मुख्य आरोपी के एक साथी को गिरफ्तार कर लिया है, हालांकि हत्या का मुख्य आरोपी भागने में सफल रहा.

मामला महरौली थाना इलाके के छतरपुर एंक्लेव का है. 16 मार्च की रात सुमीत घर में सो रहा था. तभी घर के बाहर झगड़े का शोर सुन वह बाहर आया तो उसने देखा कि आशीष कोचर और संदीप गुप्ता उसके दोस्त नितिन से हाथापाई कर रहे हैं.

सुमित और नितिन के पिता क्रमशः जयदेव और नि तिन के पिता राकेश बैंसला भी बदमाशों से उलझे हुए थे. सुमित भी झगड़ा छुड़ाने चला गया. तभी आशीष कोचर ने दो गोलियां चलाईं. एक गोली नितिन के हाथ में लगी और दूसरी गोली उसके सिर में लगी.

पूर्व नेशनल रेसलिंग कोच पर लूट के इरादे से बरसाईं गोलियां

आशीष कोचर ने इसके बाद सुमित को भी गोली मार दी. गोली सुमित के सीने में लगी, जिससे उसकी मौत हो गई. नितिन को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्तीय करवाया गया है, जहां वह जिंदगी और मौत से जूझ रहा है. नितिन को आईसीयू में रखा गया है.

सुमित शादीशुदा था. उसकी 3 साल की एक बेटी भी है. सुमित के पिता जयदेव रात में शादी सामारोह से लौटकर अपने घर आ रहे थे. उनके साथ नितिन के पिता राकेश बैंसला भी थे.

जैसे ही दोनों अपने घर के पास पहुंचे तो देखा कि आशीष कोचर और उसका साथी संदीप गुप्ता नितिन से झगड़ा कर रहे हैं. नितिन के साथ हाथापाई होता देख जयदेव और राकेश बैंसला भी उनसे भीड़ गए.

तभी चीखने चिलाने की आवाज सुनकर जयदेव का बड़ा बेटा सुमित घर से बाहर आ गया और बीच बचाव कराने की कोशिश करने लगा. सुमित का रियल स्टेट का कारोबार है.

You may also like

हरियाणाः नाबालिग का अपहरण कर किया गैंगरेप, दो गिरफ्तार

हरियाणा के टोहाना के एक गांव में चार