भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह कर्नाटक दौरे पर, कुक्के सुब्रमण्या मंदिर के किए दर्शन

- in राजनीति

भाजपा राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह कर्नाटक दौरे पर हैं। आज उन्‍होंने दक्षिण कन्‍नड़ जिले स्थित कुक्के सुब्रमण्या मंदिर के दर्शन किए। यह मंदिर भारत के प्राचीन तीर्थ स्थानों में से एक है। यहां भगवान सुब्रमण्या को सभी नागों के स्वामी के रूप में पूजा जाता है। गौरतलब है कि कर्नाटक में इस साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इसके मद्देनजर राज्‍य में भाजपा के वरिष्‍ठ नेताअों का तूफानी दौरा शुरू हो गया है। अमित शाह भी चुनाव अभियान के तहत कर्नाटक दौरे पर हैं।

भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह कर्नाटक दौरे पर, कुक्के सुब्रमण्या मंदिर के किए दर्शन

 

भाजपा अध्‍यक्ष सोमवार शाम मंगलुरु पहुंचे, जहां एयरपोर्ट के पास ही उन्‍होंने एक सार्वजनिक सभा को संबोधित भी किया और आज की शुरुआत उन्‍होंने स्थित कुक्के सुब्रमण्या मंदिर के दर्शन से की। बाद में वह पुत्‍तुर स्थित विवेकानंद संस्थान में ‘न्‍यू इंडिया’ के निर्माण में युवाओं की भूमिका पर छात्रों को संबोधित भी करेंगे। अमित शाह भाजपा कार्यकर्ता दीपक राव के परिवार से भी मुलाकात करेंगे, जिनकी पिछले महीने हत्‍या कर दी गई थी। वहीं सूरथकल में एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस को संबोधित करने के बाद वह माल्‍पे में फिशरमैन कंवेंशन में शामिल होंगे।

पीएम नरेंद्र मोदी भी सोमवार को कर्नाटक दौरे पर थे। वह बाहुबली महामस्थकाभिषेक महोत्सव के लिए श्रावणबेलागोला पहुंचे। ‘महामस्तकाभिषेक’ जैन धर्म का सबसे लोकप्रिय और सबसे बड़ा महोत्सव है। हर 12 साल पर मनाया जाने वाला ये महोत्सव हर जैन के लिए काफी अहम रखता है और देश-दुनिया से जैन समुदाय के लोग इस महोत्सव के लिए श्रवणबेलगोला पहुंचते हैं। यहां पीएम मोदी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे संन्यासी और संतों ने हमेशा समाज की सेवा की है और सकारात्मक बदलाव किए हैं। हमारे समाज की ताकत यह है कि हम समय के साथ बदले और नई स्थितियों को अपनाया।

UP सीएम योगी ने कसी कमर, उत्तम प्रदेश बनाने पर जोर

वहीं कांग्रेस पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के बाद देश में 70 से 80 प्रतिशत समय तक आपकी (कांग्रेस) पार्टी ने सत्‍ता संभाली। आज आप जिन चीजों और सुविधाओं की मांग करते हो, वो आप अपने शासनकाल में उपलब्‍ध क्‍यों नहीं करा पाए। आपने 50 साल तक देश पर राज किया, तब ये सुविधाओं लोगों को उपलब्‍ध क्‍यों नहीं कराईं।

पीएम मोदी ने अपने अंदाज में लोगों से मुखातिब होते हुए पूछा, ‘आपको कैसी सरकार चाहिए? एक कमीशन वाली सरकार या मिशन वाली सरकार? ऐसी सरकार जो काम करने के लिए 10 प्रतिशत कमीशन मांगती है या वो सरकार जो विकास का मिशन लेकर काम करती है।

 

You may also like

बसपा तैयार कर रही लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों की सूची

भाजपा के खिलाफ विपक्षियों के महागठबंधन से अलग