उत्तराखण्ड में सामूहिक उपवास से भाजपा ने विपक्ष पर किया हमला

देहरादून: संसद संचालन में अवरोध और देश के सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने के प्रयास के खिलाफ भाजपाईयों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समर्थन में उपवास रखा। इस मौके पर भाजपा नेताओं ने कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी पार्टियों को विकास विरोधी बताया। संसद में विकास के मुद्दों पर चर्चा करने के बजाय अवरोध पैदा करने के खिलाफ पीएम मोदी के उपवास के समर्थन में दून में भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी उपवास रखा। गांधी पार्क में टिहरी सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह के नेतृत्व में भाजपाई उपवास पर बैठे। उत्तराखण्ड में सामूहिक उपवास से भाजपा ने विपक्ष पर किया हमला

इस मौके पर राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबका साथ सबका विकास के सिद्धांत पर कार्य कर रहे हैं। मगर विपक्षी पार्टियां उनका सहयोग करने को तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि पीएम का उत्तराखंड से बेहद लगाव है। केदारनाथ पुनर्निर्माण, ऑल वेदर रोड इसका उदाहरण हैं। सांसद माला राज्यलक्ष्मी शाह ने कहा कि संसद में जनप्रतिनिधियों को जनता ने चुनकर इसलिए भेजा कि वह विकास पर चर्चा करें। मगर विपक्षी सांसद हर बार विकास के मुद्दों को दरकिनार कर निजी स्वार्थ की बात करते हैं। इस अवसर पर प्रदेश महामंत्री नरेश बंसल, राजपुर रोड विधायक खजान दास, महानगर अध्यक्ष विनय गोयल, सुनील उनियाल गामा, राजेंद्र ढिल्लो, आदित्य चौहान समेत अन्य मौजूद रहे। 

विधायकों ने भी रखा उपवास 

कैंट विधायक हरबंस कपूर ने जीएमएस रोड स्थित चौधरी फार्म में तथा रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ ने राहुल डेरी के पास नेहरू कॉलोनी में कार्यकर्ताओं के साथ उपवास रखा। इस दौरान कैंट में सुमित पांडे, अंजू बिष्ट, हरीश आनंद, नेहरू कॉलोनी में शमशेर सिंह पुंडीर, राजेश शर्मा, प्रमुख बीना बहुगुणा, संजीव मल्होत्रा आदि मौजूद रहे। 

समरसता से विपक्ष पर हमला बोलेगी भाजपा

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि प्रदेशभर में उपवास कार्यक्रम सफल रहा। अब पार्टी समरसता अभियान से विपक्ष को समाज में फैलाने वाले भ्रम का जवाब देगी। प्रदेश अध्यक्ष भट्ट ने कहा कि कांग्रेस और दूसरे विपक्षी दल न केवल संसद में, बल्कि पूरे देश में गैरजिम्मेदार व्यवहार कर रहे हैं। समाज को षड्यंत्र के तहत बांटकर माहौल खराब कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा ने भी तोड़ा नाता, राहुल की एक और सियासी चूक, बीजेपी के लिए संजीवनी

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कांग्रेस की बजाय अजीत जोगी के