बड़ी खबर: UP में भाजपा को टक्कर देने के लिए SP-BSP का गठबंधन

देश में अब भारतीय जनता पार्टी के बढ़ते जनाधार के कारण अब विपक्षी दल एक होने को हैं। इसकी शुरुआत उत्तर प्रदेश से हो रही है, जहां पर धुर विरोधी माने जाने वाले दल बहुजन समाज पार्टी व समाजवादी पार्टी ने हाथ मिला हैं। सपा को गोरखपुर लोकसभा उप चुनाव में अब बसपा का समर्थन मिलेगा। यहां से समाजवादी पार्टी ने निषाद पार्टी के प्रवीण कुमार निषाद को अपना प्रत्याशी बनाया है। सपा ने यहां पर निषाद पार्टी व पीस पार्टी से भी समर्थन लिया है। वहीं सपा- बसपा के इस तालमेल को बेमेल बताते हुए सीएम योगी अादित्यनाथ ने तंज कसा

बड़ी खबर: UP में भाजपा को टक्कर देने के लिए SP-BSP का गठबंधन

। उन्होंने कहा कि केला और बेर दोनों एक साथ नहीं खाए जा सकते।

गोरखपुर लोकसभा उप चुनाव में बहुजन समाज पार्टी ने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी को समर्थन देने का ऐलान किया है। आज यहां बसपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित बसपा के मुख्य जोन कोऑर्डिनेटर घनश्याम चन्द्र खरवार ने इसकी घोषणा की। उन्होंने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी प्रवीण कुमार निषाद को अपनी पार्टी का समर्थन देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि हम मिलकर देश को खोखला करने वालों को सबक सिखाएंगे।

पीएम मोदी पर आजम का तंज- तुष्टीकरण नहीं, अल्लाह का खौफ है

 

उन्होंने बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं से प्रवीण कुमार निषाद को जीत दिलाने के लिए अब जी जान से जुट जाने की अपील की। खरवार ने कहा कि दो शर्तों पर बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने समाजवादी पार्टी को समर्थन देने का निर्णय लिया है। पहली शर्त है कि देश को खोखला करने वालों को उखाड़ फेंकेंगे और दूसरी शर्त अति पिछड़े वर्ग के प्रत्याशी को मैदान में उतारने की थी। उन्होंने कहा कि स्थानीय स्तर से यहां की स्थितियों को राष्ट्रीय अध्यक्ष तक पहुंचाया गया था। पिछड़े व दलितों के हित में मायावती ने प्रवीण को समर्थन का आदेश दिया है। खरवार ने कहा कि सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता तन, मन, धन से प्रवीण निषाद को जिताने में जुट जाएं।

इस मौके पर समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष प्रहलाद यादव ने बसपा सुप्रीमों के प्रति आभार जताते हुए कहा कि यह दलितों व पिछड़ों का गठबंधन है। उन्होंने 90 के दशक के नारे -मिले मुलायम-काशीराम….की याद दिलाई। यहां से प्रत्याशी प्रवीण निषाद ने भी बसपा राष्ट्रीय अध्यक्ष के प्रति आभार जताया। मंच से समर्थन की घोषणा करने के बाद घनश्याम चंद खरवार मीडिया के सवालों से बचते रहे। सपा एमएलसी उदयवीर सिंह साथ में मौजूद थे।

 

You may also like

महिलाओं के बुर्का पहनने को लेकर ये देश कर रहा हैं बैन लगाने की तैयारी

स्विट्जरलैंड में सेंट गालेन के मतदाताओं ने रविवार को