भारत सरकार का बड़ा फैसला 31 दिसंबर तक रद्द की सारी उड़ानें….

आपको बता दें कि ब्रिटेन में कोरोना का नया स्ट्रेन VUI-202012/01 मिला है, जिसके बाद विज्ञान जगत में हलचल तेज है. ब्रिटेन ने भी अपने यहां सख्ती को बढ़ाया है. जबकि फ्रांस, जर्मनी, नीदरलैंड समेत यूरोप के कई देशों ने यूके की फ्लाइट पर ही बैन लगा दिया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोरोना के इस नए स्ट्रेन पर अध्ययन किया जा रहा है.

भारत सरकार की ओर से ट्वीट करके बताया गया कि ब्रिटेन में मौजूदा स्थिति को देखते हुए भारत सरकार ने निर्णय लिया है कि 31 दिसंबर 2020 तक ब्रिटेन से भारत आने वाली सभी उड़ानों को निलंबित कर जाए. यह निलंबन आज रात 12 बजे से शुरू होगा. उससे पहले आने वाले लोगों के लिए आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य कर दिया गया है.

Ujjawal Prabhat Android App Download Link

सरकार सतर्क है, घबराने की आवश्यकता नहीं: हर्षवर्धन
वहीं, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए प्रकार (स्ट्रेन) के संक्रमण को लेकर चिंताओं के बीच कहा कि सरकार सतर्क है और घबराने की आवश्यकता नहीं है। हर्षवर्धन ने कहा कि सरकार ने पिछले एक साल में हर वह काम किया है, जो कोविड-19 से निपटने के लिए महत्वपूर्ण था।

उन्होंने कोरोना वायरस के नए स्वरूप के संक्रमण को लेकर चिंताओं और ब्रिटेन से आने वाली उड़ानों पर प्रतिबंध की मांग के संबंध में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए कहा, मैं कहना चाहूंगा कि ये काल्पनिक स्थितियां हैं, ये काल्पनिक बातें है, ये काल्पनिक चिंताएं हैं… अपने आप को इससे दूर रखें। हर्षवर्धन ने कहा, सरकार हर चीज के बारे में पूरी तरह जागरुक है। यदि आप मुझसे पूछें, तो इतना घबराने की कोई जरूरत नहीं है, जैसा कि इस संवाददाता सम्मेलन में देखा जा रहा है।

ब्रिटेन की उड़ानों पर तुरंत रोक लगाई जाए: केजरीवाल
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को ट्वीट कर कहा, ‘यूके में कोरोना के नए म्यूटेशन का पता चला है जो कि सुपर स्प्रेडर है। मैं केंद्र सरकार के अपील करता हूं कि यूके से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर तुरंत रोक लगाई जाए।’

चिंता का विषय है कोरोना का नया रूप: गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा, ‘ब्रिटेन में सामने आया कोरोना वायरस का नया रूप बेहद चिंता का विषय है। भारत सरकार को तुरंत कार्रवाई करनी चाहिए। एक कार्ययोजना तैयार की जानी चाहिए। साथ ही यूके और अन्य यूरोपीय देशों से आने वाली सभी उड़ानों पर तुरंत प्रतिबंध लगाया जाए।’

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button