बंगाल पंचायत चुनाव मसले पर बीजेपी को SC ने हस्तक्षेप करने से किया इनकार

उच्चतम न्यायालय ने पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में नामांकन भरने की अंतिम तारीख आगे बढ़ाने से इनकार करते हुए कहा कि वह चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं कर सकता है. हालांकि, शीर्ष अदालत ने सभी उम्मीदवारों को इस मामले में राहत के लिए पश्चिम बंगाल निर्वाचन आयोग जाने को कहा.

न्यायमूर्ति आर के अग्रवाल और न्यायमूर्ति ए एम सप्रे की पीठ ने कहा, ‘हमने चुनावी प्रक्रिया में हस्तक्षेप नहीं किया है , लेकिन सभी उम्मीदवारों को जरूरी राहत के लिए राज्य निर्वाचन आयोग जाने की आजादी दी है.’  

बीजेपी ने छह मार्च को न्यायालय से कहा था कि पश्चिम बंगाल में ‘लोकतंत्र की हत्या’ की जा रही है क्योंकि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस व्यापक पैमाने पर चुनावी हिंसा में लिप्त है और आगामी पंचायत चुनाव के लिए विपक्ष के उम्मीदवारों को पर्चा दाखिल नहीं करने दे रही है.

कोलकाता के दमदम रेलवे लाइन पर हुआ बम धमाका, एक की हालत गंभीर, मिले 10 जिंदा बम

बीजेपी ने यह भी आरोप लगाया है कि पश्चिम बंगाल राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से नियुक्त सहायक पंचायत चुनाव पंजीकरण अधिकारी बीजेपी उम्मीदवारों को नामांकन के फॉर्म देने से इनकार कर रहा है. पश्चिम बंगाल बीजेपी ने नामांकन पत्र ऑनलाइनउपलब्ध करवाने की मांग की थी.

राज्य में पंचायत चुनाव एक , तीन और पांच मई को होने हैं. वोटों की गिनती आठ मई को होगी. 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ी खबर: अब वाहन मालिकों के लिए जरूरी हुआ 15 लाख रुपये का एक्सीडेंट बीमा कवर

अब से दोपहिया सहित सभी प्रकार की गाड़ियों