इंग्लैंड के विकेटकीपर बल्लेबाज जोस बटलर को उम्मीद है कि भारत के खिलाफ बुधवार से शुरू होने वाली पांच टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दौरान वह विराट कोहली से प्रेरणा लेंगे और इंडियन प्रीमियर लीग के अपने अनुभव का इस्तेमाल करने में सफल रहेंगे.

बटलर ने ओवल में पत्रकारों से कहा, ‘‘विराट कोहली बेहद प्रतिभाशाली खिलाड़ी है. उन्हें देखने पर आपको हमेशा शीर्ष पर रहने की मानसिकता का पता भी चलता है. लगता है कि वे अधिकतर समय सही फैसला करते हैं और यह कौशल है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘सफलता की भूख से हर दिन ऐसा करना संभव है. इन शीर्ष खिलाड़ियों में यह भूख वास्तव में अपनी चमक बिखेरती है.’’

आईपीएल के इस सत्र में राजस्थान रायल्स की तरफ से 548 रन बनाने वाले बटलर ने कहा, ‘‘आईपीएल में मैंने जो सबसे अहम बात सीखी वह यह थी सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी सफलता हासिल करने के लिये क्या करते हैं और आखिर में वे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी क्यों हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘उनकी मानसिकता भिन्न होती है. वे हर मैच में जीत की मानसिकता के साथ उतरते हैं और निरंतर ऐसा करते हैं. मैंने इन खिलाड़ियों के अभ्यास के तरीकों और मैच में दबाव के क्षणों में उनके खेल से बहुत कुछ सीखा.’’

कुछ इस तरह ढोल की आवाज सुनकर बीच मैच में भांगड़ा करने लगे धवन और कोहली

आईपीएल में शानदार सफलता के बाद बटलर ने टेस्ट क्रिकेट में अच्छी वापसी की और पाकिस्तान के खिलाफ 1-1 से ड्रा छूटी श्रृंखला में लगातार दो अर्धशतक जमाये. बटलर का टेस्ट क्रिकेट में सर्वोच्च स्कोर 85 रन है जो उन्होंने चार साल पहले भारत के खिलाफ पदार्पण मैच में बनाया था और एजबेस्टन में पहले टेस्ट मैच से शुरू होने वाली श्रृंखला में वह अपना पहला शतक जड़ने के लिये प्रतिबद्ध हैं.

उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरा लक्ष्य है. मैं यह उपलब्धि हासिल करना पसंद करूंगा. भारत के खिलाफ मेरी अच्छी यादें जुड़ी हैं.’’

कोहली आईपीएल में रायल चैंलेंजर्स बेंगलूर में मोईन अली और क्रिस वोक्स के कप्तान थे लेकिन बटलर का मानना है श्रृंखला के दौरान मैदान पर हर तरह की दोस्ती भुला दी जाएगी. उन्होंने कहा, ‘‘उनकी टीम में कुछ खिलाड़ी हैं जिनके साथ मैं खेला हूं. निश्चित तौर पर आपकी उनके साथ दोस्ती है लेकिन मैदान पर लगता है कि उसे भुला दिया जाएगा और हर कोई प्रतिस्पर्धी होगा.’’